Move to Jagran APP

Dehradun News : छह दिन से लापता श्रमिक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, सिंचाई गूल में मिला सड़ा गला शव

कोतवाल राजेश शाह व चौकी प्रभारी कविंद्र राणा ने मौके पर आए स्वजन व रिश्तेदारों से पूछताछ की। मृतक के भाई आशु ने पुलिस को बताया कि दिनेश शराब का आदी था जिस रात वह लापता हुआ उस समय भी उसने शराब पी हुई थी। दिनेश कई कई दिन तक घर से गायब रहता था इसलिए उन्होंने सोचा कि कहीं चला गया होगा आ जाएगा।

By rajesh panwar Edited By: Mohammed Ammar Tue, 09 Jul 2024 12:01 AM (IST)
स्वजन ने पुलिस को छह दिन तक भी नहीं दी गुमशुदगी की सूचना।

जागरण संवाददाता, विकासनगर: कोतवाली अंतर्गत बंशीपुर में जैन चाय बागान गेट के पास से गुजर रही सिंचाई गूल से एक 40 वर्षीय व्यक्ति का शव बरामद किया गया। व्यक्ति की शिनाख्त कर ली गई है। लाश सिर से सड़ चुकी थी और कीड़े पड़े हुए थे। शव मिलने से क्षेत्र में सनसनी फैल गई। मृतक के बुआ के लड़के ने हत्या की आशंका जताई है। सोमवार सुबह को जैन गेट वाली पुलिया से कुछ ग्रामीण गुजर रहे थे तो बदबू आई, झांक कर देखा तो व्यक्ति का शव पड़ा था। सूचना मिलने पर कोतवाल राजेश शाह, एसएसआइ संजीत कुमार, चौकी प्रभारी हरबर्टपुर कविंद्र राणा मौके पर पहुंचे।

पुलिस ने शव की शिनाख्त कराने की कोशिश की तो बंशीपुर निवासी आशु कुमार ने अपने भाई दिनेश के रूप में की। कोतवाल राजेश शाह के अनुसार मृत मिले व्यक्ति के शरीर पर कहीं पर भी चोट आदी के निशान नहीं है। मौत की सही वजह पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही ज्ञात हो सकेगी। कुछ संदिग्ध होगा तो नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। खाना रखवाकर गया था थोड़ी देर में आने की बात कहकर  बंशीपुर निवासी दिनेश दो जुलाई की रात में करीब दस बजे घर से निकला।

भाई से कहा कि खाना निकालकर रख दो, वह थोड़ी देर में आ रहा है। लेकिन वह वापस ही नहीं आया। सुबह जब आशु भाई ने देखा कि दिनेश आया ही नहीं है और खाना ज्यों का त्यों रखा है तो सोचा कि कहीं चला गया होगा, आ जाएगा। पत्नी छोड़कर चली गई थी कई साल पहले चौकी प्रभारी कविंद्र राणा ने बताया कि दिनेश की शादी वर्ष 2006 में हुई थी। एक साल दांपत्य जीवन चलने के बाद दोनों का तालाक हो गया था।

इसकी वजह भी शराब पीने का आदी होना रही। तब से वह मजदूरी कर लेता था और जब तक मजदूरी से मिले पैसे खत्म नहीं होते थे, तब तक शराब ही पीता रहता था। कभी वह घर के बाहर खाना खा लेता था तो कभी उसका भाई खाना खिला देता था।

पहले था दर्जी, फिर करने लगा मजदूरी

पहले दिनेश टेलर था, अच्छी खासी कमाई हो जाती थी, घर परिवार भी ठीक चल रहा था। दिनेश का एक भाई आशु व दो बहनें हैं, बहनों की शादी हो चुकी है। भाई दिनेश के बराबर में ही दूसरे घर में रहता है। दिनेश पत्नी से तलाक के बाद से अकेला ही रह रहा था, उसने टेलर का काम छोड़ दिया था और मजदूरी करके अपनी आजीविका चलाता था। पत्नी के जाने व टेलर का काम छोड़ देने के बाद उसकी आजीविका मुश्किल से चल पा रही थी। 

घर से मात्र 300 मीटर दूरी पर पड़ा था मृत  दिनेश का शव

घर से मात्र तीन सौ मीटर की दूरी पर सिंचाई गूल में पड़ा था, लेकिन इसकी खबर किसी को भी नहीं चली। चौकी इंचार्ज का कहना है कि दिनेश नशे की हालत में गूल में गिरा होगा और पिछले दो दिन में आई बारिश के कारण गूल का पानी बढ़ने पर शव बहकर पुलिया के नीचे अटक गया होगा। फिल्हाल पूरे प्रकरण की जांच चल रही है। हर पहलू से जांच की जा रही है। शव बुरी तरह से सड़ गल चुका था।

यह भी पढ़ें : Kathua Terrorist Attack : आतंकी हमले में उत्तराखंड के आदर्श नेगी बलिदान, 26 साल की उम्र में सेना में हुए थे भर्ती