जागरण संवाददाता, ऋषिकेश: थाना रखवाल गांव, रानीपोखरी में एक पूर्व सैनिक ने लाइसेंसी बंदूक से पत्नी की गोली मारकर हत्या कर दी। उसके बाद उसने खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली। पुलिस के मुताबिक प्रथम दृष्टया घटना को अंजाम देने वाला पूर्व सैनिक अवसाद में था।

रानीपोखरी थानाध्यक्ष शिशुपाल सिंह राणा ने बताया कि सुबह करीब सवा नौ बजे रखवाल गांव के ग्राम चौकीदार कुंदन सिंह ने थाने में फोन कर बताया कि रखवाल गांव में एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी और खुद को गोली मार दी है। सूचना पर वे पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे।

थानाध्यक्ष ने बताया कि मौके पर पूर्व सैनिक बृजेश कृषाली उर्फ बिरजी (58 वर्ष)और उसकी पत्नी कुसुम कृषाली (55 वर्ष) के शव घर के आंगन में पड़े थे। पूछताछ में पता चला कि पूर्व सैनिक बृजेश ने अपनी पत्नी को गोली मारने के बाद खुद को भी लाइसेंसी बंदूक से गोली मार दी। दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। बृजेश ने पत्नी को दो गोली मारी।

एक गोली उसके पेट से रगड़ खाकर निकल गई, दूसरी गोली उसके सिर के रास्ते निकली। उसके बाद बृजेश ने अपने माथे पर बंदूक सटाकर गोली मारी जिससे उसकी भी मौके पर ही मौत हो गई। घटनास्थल से दो खाली कारतूस बरामद हुए हैं, जबकि एक खाली करतूस और एक जिंदा कारतूस बंदूक से मिला है। मृतक दंपती को एक पुत्र भारतीय नौसेना में काम करता है और दूसरा मुंबई में प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता है।

घटना के वक्त छोटी पुत्रवधू कमरे में काम कर रही थी वहीं बृजेश की मां घर के दूसरे कमरे में मौजूद थी। पुलिस के मुताबिक घटना के वक्त घर का मुख्य गेट अंदर से बंद था। गोली चलने की आवाज सुनकर पहुंचे पड़ोसियों ने गेट खोला। मौके पर पहुंचकर फारेंसिक टीम ने घटनास्थल से फिंगर प्रिंट लिए। पुलिस उपाधीक्षक ऋषिकेश डीसी ढौंडियाल ने बताया कि मृतक सेना से आनरेरी कैप्टन के पद से सेवानिवृत्त था। घटना के कारणों में गृह क्लेश जैसी कोई बात सामने नहीं आई है। पूछताछ में पता चला है कि कई दिनों से बृजेश गुमसुम रहता था। वह सुबह-सुबह घूमने भी जाया करता था, लेकिन पिछले कुछ दिनों से घूमने भी नहीं जा रहा था साथ ही उसने परिचितों से बातचीत भी कम कर दी थी। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।

यह भी पढ़ें- नवमी के दिन दराती से एक के बाद एक ताबड़तोड़ वार कर मां को मौत के घाट उतार दिया था वहशी बेटे ने

Edited By: Raksha Panthri