जागरण संवाददाता, देहरादून। Corona Warrior Award कोरोना महामारी ने देश-दुनिया को बुरी तरह प्रभावित किया। कई परिवारों को इस महामारी ने कभी न भूल पाने वाले जख्म दिए। संकट की इस घड़ी में हर किसी को अपनी और अपनों की चिंता सता रही थी। अपने ही अपनों से किनारा करने लगे थे। ऐसे चुनौती भरे वक्त में कई लोग अपनी परवाह किए बगैर दूसरों की जान बचाने के लिए आगे आए और समाज को संबल प्रदान कर उम्मीद की लौ जलाई। ऐसे कोरोना योद्धाओं का 'दैनिक जागरण' ने सम्मान किया।

राजपुर रोड स्थित फोर प्वाइंट बाय शेरेटन में 'दैनिक जागरण कोरोना योद्धा सम्मान 2021' आयोजित हुआ। मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कोरोना योद्धाओं को प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिह्न भेंटकर सम्मानित किया। उन्होंने कहा कि कोरोना योद्धाओं का योगदान वास्तव में अविस्मरणीय है। इस असाधारण समय में सेवा परमो धर्म: की भावना के साथ, अपने जीवन की परवाह किए बिना हमारे चिकित्सक, नर्स, पैरामेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस कर्मी, सफाई कर्मचारी, पुलिसकर्मी, सेवाकर्मी, स्वयंसेवी संस्थाओं ने 24 घंटे काम किया। कहा कि हमारे अच्छे कार्यों को भगवान भी देखते हैं। कोरोना के दौर में तन-मन से जनसेवा करने वाले अपने परोपकार के कार्यों से पुण्य के भागी बने हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले साल कोविड महामारी ने हमें सचेत अवश्य कर दिया था, लेकिन तब किसी को भी यह अहसास नहीं था कि दूसरी लहर कितनी घातक होगी। हमारे पास उस समय महामारी पर नियंत्रण के लिए कोई रास्ता नहीं था। वैक्सीन थी, न दवा, लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की दूरदर्शिता के कारण आवश्यक दवा एवं उपकरण और वैक्सीन की उपलब्धता बहुत कम समय में हो पाई। वहीं, हमारे स्वास्थ्य कर्मियों, पुलिस कर्मियों व समाज सेवा से जुड़े लोग ने एकजुटता का परिचय देते हुए इस पर बखूबी नियंत्रण पाया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर का सामना करने की पूरी तैयारी की गई है। सभी सीएचसी, पीएचसी, सब सेंटर में जरूरी दवाएं व उपकरण उपलब्ध हैं। बच्चों के लिए माइक्रो न्यूट्रिएंट की व्यवस्था की गई है। 31 दिसंबर तक प्रदेश में सौ प्रतिशत टीकाकरण कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने सीमित संसाधनों के बावजूद कोविड-19 से प्रभावित पर्यटन, परिवहन, संस्कृति क्षेत्र से जुड़े लोग के लिए लगभग 200 करोड़ और चिकित्सा क्षेत्र के लिए 205 करोड़ का पैकेज स्वीकृत किया है।

कोरोना की रफ्तार मंद पड़ी है, लेकिन महामारी खत्म नहीं हुई है। इसलिए हमें कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए इस चुनौती का सामना करना है। इस अवसर पर दैनिक जागरण के राज्य संपादक कुशल कोठियाल, महाप्रबंधक अनुराग गुप्ता, कालिंदी अस्पताल के एमडी सतीश कुमार जैन आदि उपस्थित रहे।

यह भी पढ़ें- आप भी हैं कोरोना योद्धा तो जल्द कीजिए सम्मान कार्यक्रम के लिए आवेदन, शेष हैं सिर्फ दो दिन

Edited By: Raksha Panthri