ऋषिकेश, [जेएनएन]: पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी देश की आजादी के इतिहास को मिटाने का प्रयास कर रही है, लेकिन दलित समाज इसे कभी बर्दाश्त नहीं करेगा। उन्होंने संघ प्रमुख मोहन भागवत पर संविधान को परिवर्तित करने का आरोप लगाया। 

रेलवे रोड पर उत्तराखंड दलित शोषित विकास मंच की ओर से आयोजित कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत ने संविधान निर्माता व भारत रत्न डॉ. भीमराव आंबेडकर की मूर्ति पर माल्यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित की। पूर्व सीएम ने कहा कि बाबा साहेब ने दलित समाज के दबे कुचले लोगों के उत्थान के लिए संविधान का निर्माण किया। जिसे भाजपा सरकार बदलना चाहती है। 

उन्होंने आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत पर आरोप लगाया कि उनके इशारे पर ही संविधान में परिवर्तन किए जाने की साजिश रची जा रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासन में जो योजनाएं लागू की गई थीं, उन्हें त्रिवेंद्र सरकार बंद करवा रही है। त्रिवेंद्र सरकार ने राशन की दुकानों पर राशन समाप्त कर दिया। 

राजकीय चिकित्सालय में गरीबों को मिलने वाले स्वास्थ्य लाभ की सुविधाएं भी समाप्त कर दी गईं। कन्या धन योजना को बंद कर दिया। उन्होंने 2019 के लोकसभा चुनाव में डॉ. आंबेडकर के सपनों को साकार करने के लिए कांग्रेस को समर्थन देने की अपील की। जयपाल जाटव के संचालन में सुनील गुल्हाटी, राजकुमार अग्रवाल, राजपाल खरोला, पुरुषोत्तम शर्मा, वेद प्रकाश धींगड़ा, सुनील गोस्वामी, मधु जोशी, जतीन जाटव, राजाभाऊ, आशीष राय, सतीश जाटव, योगेंद्र प्रजापति, हंसराज यादव, मंगल सिंह, जसवंत जाटव, पंकज शास्त्री आदि भी कार्यक्रम में उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें: कांग्रेस विधायक धामी समेत दर्जनों कांग्रेसी गिरफ्तार व रिहा

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड के सीएम ने दलितों संग लंगर छक दिया समरसता का संदेश

Posted By: Sunil Negi