देहरादून, जेएनएन। कांग्रेस ने हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के उन सभी आरोपों को खारिज किया है, जो उन्होंने  नागरिकता संशोधन कानून को लेकर पार्टी पर लगाए। प्रदेश कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सूर्यकांत धस्माना ने कहा कि संख्याबल के आधार पर देश की संसद से नागरिकता संशोधन कानून पास कर बीजेपी ने संविधान की मूल भावना की हत्या करने का अपराध किया है। इसे देश की जनता कभी माफ नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि इस कानून में धर्म के आधार पर नागरिकता देने का प्रावधान कर मोदी सरकार ने संविधान की मूल प्रस्तावना को ही भ्रष्ट कर दिया है,  जिसमें भारतीय नागरिक की पहचान धर्म, जातीय भाषायी और क्षेत्र के आधार पर न हो कर केवल भारतीय नागरिक के रूप में थी। 

सूर्यकांत धस्माना का कहना है कि बीजेपी और मोदी सरकार देश की जनता में भ्रम पैदा कर रहे हैं। उन्होंने कहा, आज पूरे देश में युवा और विद्यार्थी बीजेपी के असली मंसूबों को समझ गया है। वो जान चुके हैं कि रोजगार मोदी दे नहीं सकते, जीडीपी लगातार रसातल की ओर जा रही है, उद्योग धंधे चौपट हो रहे हैं, महंगाई आसमान पर है और देश की जनता का आक्रोश मोदी सरकार के खिलाफ लगातार बढ़ रहा है।

इसलिए अब जब कोई रास्ता नहीं बचा तो सीएए और एनआरसी के नाम पर देश की जनता का ध्यान हिंदू-मुस्लिम की तरफ खींचा जा रहा है। उनका कहना है कि पीएम मोदी को अपने नेताओं की फौज को सीएए और एनआरसी के लिए उतारने की जगह बेरोजगारी, महंगाई, गिरती जीडीपी का जवाब देने के लिए उतारना चाहिए। 

यह भी पढ़ें: Citizenship Amendment Act: नमाजियों ने मुंह पर काली पट्टी और हाथ बांधकर किया सीएए का विरोध

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस