देहरादून, जेएनएन। कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के केदारनाथ के प्रस्तावित दौरे को लेकर हमला बोला। वहीं, भाजपा ने पलटवार करते हुए पीएम के दौरे का विरोध करने पर कांग्रेस की निंदा की। 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने केदारनाथ धाम के पुनर्निर्माण को 7500 करोड़ के पैकेज में कटौती कर दी। साथ ही उन्होंने भ्रष्टाचार पर अंकुश नहीं लगने का दावा करते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से इस्तीफा मांगा है। 

प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में मीडिया से बातचीत में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि बाबा केदारनाथ के दर्शन को सभी आते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी आ रहे हैं तो आएं। उन्होंने केदारनाथ आपदा पुनर्निर्माण के लिए वायदा तो किया, लेकिन धन नहीं देकर निराश किया है।

उन्होंने कहा कि पिछली यूपीए सरकार की ओर से स्वीकृत 7500 करोड़ के पैकेज को भी पूरा न देकर सिर्फ 4000 करोड़ ही दिए। अब राज्य सरकार की मुश्किलें भी बढ़ने वाली हैं। डबल इंजन की सरकार के रहते आपदा पुनर्निर्माण अपेक्षित गति नहीं पकड़ पाया। अब 23 मई के बाद सिंगल इंजन की सरकार रह जाएगी। 

उन्होंने दावा किया कि 23 मई को मोदी सरकार की विदाई तय है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने पहले वीडियो और फिर ऑडियो क्लिपिंग को लेकर मुख्यमंत्री की जीरो टॉलरेंस नीति पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि एनएच-74 मुआवला घपले में भी सीबीआइ जांच नहीं कराई गई है। इससे भ्रष्टाचार को लेकर भाजपा और उसकी सरकार का रुख सामने आ गया है। लिहाजा मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को पद से इस्तीफा देना चाहिए। 

प्रीतम सिंह ने जंगलों में आग लगे होने के मौके पर वन महकमे के आला अफसरों के विदेश दौरे को सरकार की अदूरदर्शिता करार दिया। उन्होंने कहा कि वन मंत्री हरक सिंह रावत सरकार में असहज महसूस कर रहे हैं, लेकिन उन्हें तय करना है कि वह मंत्री रहना चाहते हैं या नहीं।

प्रधानमंत्री की यात्रा का विरोध निंदनीय: भट्ट

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने काग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव व पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के उस बयान की निंदा की है, जिसमें उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की केदारनाथ यात्रा की आलोचना करते हुए पश्चात्ताप करने की बात कही। उन्होंने काग्रेस नेताओं द्वारा प्रधानमंत्री की यात्रा के विरोध को निदंनीय करार दिया। 

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने एक बयान में कहा कि उत्तराखंड सहित पूरे देश में काग्रेस नेताओं ने जो पाप किए हैं, उनके लिए काग्रेस नेताओं को प्रदेश की जनता के साथ पूरे देश की जनता से माफी मांगनी चाहिए। उत्तराखंड की जनता ने पहले विधानसभा चुनाव में काग्रेस को करारा जवाब दिया और अब लोकसभा चुनाव में उत्तराखंड व पूरे देश की जनता काग्रेस को बहुत बड़ी सजा देने जा रही है। 

भट्ट ने कहा कि प्रधानमंत्री आध्यात्मिक दृष्टि से उत्तराखंड आ रहे हैं, लेकिन आस्थाहीन कांग्रेसी अनर्गल बयान देकर अपने छोटेपन का परिचय दे रहे हैं। काग्रेस की ओर से प्रधानमंत्री की इस यात्रा को राजनीतिक आलोचना का विषय बनाना दुर्भाग्यपूर्ण व निंदनीय है।

यह भी पढ़ें: मंत्री ने सरकार को दी चेतावनी, जनहित के काम को लेकर बैठेंगे अनशन पर

यह भी पढ़ें: वन विभाग के मुखिया को विदेश यात्रा की अनुमति पर मंत्री नाराज, कुर्सी छोड़ने की धमकी

यह भी पढ़ें: मणिशंकर अय्यर पर हरीश रावत का हमला, बोले-उन्हें भी लग गया मोदी रोग

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप