जागरण संवाददाता, देहरादून। श्री गुरु राम राय पीजी कॉलेज में चले रहे पॉपुलर साइंस लेक्चर सीरीज के अंतिम दिन सोमवार को बैरकपुर राजगुरु सुरेंद्रनाथ कॉलेज कोलकाता के विख्यात विज्ञानी और प्राचार्य प्रो. मोनोजित रे ने कहा कि उत्तराखंड की विभिन्न नदियों में जैव विविधता का अध्ययन कर उनको साफ सुधारा बनाया जा सकता है। पानी के शुद्ध रहने के लिए उसमें जैव विविधता का होना अत्यंत आवश्यक है।

उन्होंने कहा कि कुछ नदियां जिनका पानी पीने योग्य नहीं था, उन नदियों का पानी जैव विविधता के बढ़ने से पीने योग्य हो गया है। प्रो. मोनोजित रे ने अपना व्याख्यान बायोडायवर्सिटी इन रिवर जलांगी, नाडिया, वेस्ट बंगाल विषय पर दिया। दूसरे सत्र में हेमवती नंदन बहुगुणा गढ़वाल केंद्रीय विवि के भौतिक विज्ञान के प्रो. आलोक सागर गौतम ने कोरोना महामारी पर्यावरण के लिए वरदान विषय पर व्याख्यान दिया। 

डॉ. गौतम ने बताया कि अध्ययन से पता चला है कि महामारी के दौरान कारखाने, परिवहन, रेलवे आदि सभी बंद होने पर वायु प्रदूषण व ग्लोबल वॉर्मिंग में बहुत कमी आई है। महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. वीए बौड़ाई ने कहा कि प्रोफेसर मोनोजित रे व डॉ. आलोक सागर गौतम के व्याख्यानों का छात्रों पर बहुत गहरा असर पड़ेगा। छात्र शोध के लिए अग्रसर होंगे। डॉ. संदीप नेगी ने कार्यक्रम का संचालन किया। डॉ. हर्षवर्धन पंत ने कार्यक्रम की सफलता के लिए सभी का आभार जताया।

यह भी पढ़ें- AIIMS Rishikesh में अब 'स्पोर्ट्स इंजरी क्लीनिक' की सुविधा भी उपलब्ध, इन चोटों का होगा इलाज

Edited By: Raksha Panthri

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट