संवाद सूत्र, जोशीमठ (चमोली)। बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर मारवाड़ी के पास शनिवार दोपहर बाद अचानक सड़क पर एक बड़ा पेड़ गिर गया, जिससे बदरीनाथ राजमार्ग दो घंटे बाधित रहा।

बाद में राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) और तहसील प्रशासन जोशीमठ की टीम मौके पर पहुंची और पेड़ को सड़क से हटाया। इस दौरान लगभग आठ किलोमीटर तक लंबा जाम लगा रहा।

पेड़ टूटने के दौरान हाईवे पर वाहनों की आवाजाही हो रही थी। गनीमत रही कि पेड़ की चपेट में कोई वाहन नहीं आया। पेड़ टूटने के बाद इसकी सूचना तत्काल तहसील प्रशासन को दी गई।

मार्ग पर जाम के चलते प्रशासन की टीम को मौके पर पहुंचने में एक घंटे से ज्यादा का समय लगा। तब तक यात्री ही पेड़ की टहनियां काट कर रास्ता सुचारू करने में जुटे थे। इस दौरान सिर्फ दोपहिया वाहनों की आवाजाही जारी रही।

एसडीआरएफ जोशीमठ के इंस्पेक्टर हरक सिंह राणा ने बताया कि हाईवे पर पेड़ गिरने की सूचना मिलने के बाद सात सदस्यीय दल ने पेड़ को काटकर हाईवे को यातायात के लिए सुचारू किया।

कोटद्वार: तेज हवा से हाईवे पर गिरा पेड़, पोल मुड़ा

शुक्रवार देर रात हुई तेज बारिश व तूफान ने कोटद्वार- दुगड्डा के मध्य राष्ट्रीय राजमार्ग पर एक पेड़ धराशायी हो गया। सड़क पर गिरे पेड़ के कारण भारी वाहनों को आवाजाही में परेशानियों का सामना करना पड़ा।

वहीं, सिद्धबली के समीप राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे खड़ा एक विद्युत पोल भी मुड़ गया। हालांकि, इससे क्षेत्र की विद्युत आपूर्ति पर कोई असर नहीं पड़ा।

शुक्रवार को पूरे दिन चिलचिलाती धूप लगी हुई थी। शाम के समय उमस के कारण आमजन का जीना मुहाल हो गया। बीती मध्य रात्रि अचानक मौसम ने करवट ली और आकाश में बिजली चमकने के साथ ही तेज बारिश होने लगी।

बारिश के दौरान चली तेज हवा के कारण कोटद्वार से तीन किलोमीटर आगे दुगड्डा रोड पर एक पेड़ टूट गया। सड़क में गिरे इस पेड़ के कारण भारी वाहनों की आवाजाही ठप हो गई।

हालांकि, छोटे वाहन आसानी से निकल रहे थे। ट्रक चालकों ने स्वयं ही पेड़ की टूटी शाखाओं को हटा कर मार्ग को यातायात के लिए खोला। तेज हवाओं के कारण सिद्धबली पुलिया के समीप राष्ट्रीय राजमार्ग के किनारे खड़ा विद्युत पोल के ऊपर का हिस्सा मुड़ हो गया। हालांकि क्षेत्र में कहीं भी विद्युत आपूर्ति ठप होने की सूचना नहीं थी।

Edited By: Sunil Negi