देहरादून, जेएनएन। Ayodhya Ram Mandir अयोध्या में श्रीराम जन्म भूमि पूजन और मंदिर निर्माण की आधारशिला रखे जाने पर देवभूूूूमि दीयों की रोशनी से जगमगा उठी। द्रोणनगरी से लेकर धर्मनगरी और तीर्थनगरी भी राममय हो गई। ऐतिहासिक पल का गवाह बनने के लिए लोग सुबह से ही टेलीविजन के माध्यम से शिलान्यास कार्यक्रम का लाइव टेलीकास्ट देखते रहे। प्रदेशभर में आतिशबाजी के साथ ही मंदिरों में पूजा-अर्चना कर दीपोत्सव मनाया गया। शहरों से लेकर देहात तक सदियों की आस पूरी होने पर रामभक्तों के चेहरे पर उमंग और उत्साह नजर आया। रामनाम के जयघोष के साथ भक्तों ने मिठाई बांटकर अपनी खुशी का इजहार किया।

उत्तराखंड में बुधवार शाम को गढ़वाल से लेकर कुमाऊं तक दीपावली मनाई गई। दियों की जगमगाहट के साथ ही आतिशबाजी की गई। धर्मनगरी हरिद्वार के गली-मोहल्लों, चौक-चौराहों को दीप-मालाओं, रंगोली से सजाया गया और रोशनी की गई। हरकी पैड़ी और दक्षिण कालीमंदिर सहित धर्मनगरी के सभी आश्रम-अखाड़ों और मठ-मंदिरों में रामकथा का आयोजन कर दीपोत्सव मनाया गया। हरकी पैड़ी पर विशेष गंगा आरती का आयोजन हुआ। गायत्री तीर्थ शांतिकुंज में गायत्री प्रमुख डॉ. प्रणव पंड्या और शैलदीदी की अगुवाई में हजारों की संख्या में गायत्री साधकों ने गायत्री मंत्र और श्रीराम की स्तुति करते हुए जप किया। 

शाम को पूरे शांतिकुंज परिसर और देव संस्कृति विवि परिसर की 51 हजार दीपों से सजावट की गई। इस दौरान आठ करोड़ से अधिक शांतिकुंज साधकों और 30 हजार से अधिक प्रकल्पों में जप और दीपोत्सव मनाया गया। विश्व हिंदू परिषद ने जिले में 35 हजार परिवार के माध्यम से प्रति परिवार पांच दीप प्रज्वलित किए।

 

विहिप के जिलाध्यक्ष नितिन गौतम ने बताया कि विहिप कार्यकर्ता पिछले काफी समय से इस काम में जुटे थे। इसके अलावा शहर की विभिन्न धार्मिक, सामाजिक, गैर सरकारी संगठनों, व्यापारी संगठनों, महिला मंडलों, नागरिक और श्रमिक संगठनों ने भी भूमि पूजन और आधारशिला रखे जाने पर उत्सव मनाया। इस नजारे को देखने लोग सड़कों पर उमड़ पड़े। इस दौरान सुरक्षा के भी कड़े बंदोबस्त रहे।

सीएम और राज्यपाल ने प्रज्ज्वलित किए दीये 

इस ऐतिहासिक पल आम से लेकर खास सभी ने अपने-अपने आवास पर दिये जलाए और खुशी मनाई। देहरादून में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भी परिवार संग अपने आवास पर दीप प्रज्ज्वलित किए। वहीं, राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने राजभवन के प्रांगण में श्री राम के वर्णाक्षर आकृति में दीप जलाए और राष्ट्र की सुख समृद्धि की प्रार्थना भी की।

लक्ष्मी नारायण घाट पर दीपोत्सव 

अयोध्या में भगवान राम मंदिर के भूमि पूजन के बाद हर्षोल्लास का माहौल है। गंगनहर लक्ष्मी नारायण घाट पर लोगों ने बड़ी संख्या में पहुंच कर दीप प्रज्वलित किए। दीपों से जय श्री राम लिख कर जय श्रीराम का उद्घोष किया। वहीं, रुड़की में पुरोहित कल्याण समिति की ओर से गंगनहर घाट पर दीप प्रज्वलन किया गया। इस मौके पर समिति के आचार्य राज कुमार कौशिक, पं. सुमित मिश्रा, पं. राकेश शर्मा, पं. राम गोपाल पाराशर, पं. सत्येंद्र पुरी आदि मौजूद रहे।

दीयों की रोशनी से जगमगा उठा कोटद्वार 

पौड़ी जिले के कोटद्वार क्षेत्र में भी उल्लास का माहौल नजर आया। क्षेत्र दीयों की रोशनी से जगमगा उठा। आमजन ने अपने घरों के बाहर दीपक जलाए। साथ ही कई स्थानों पर आतिशबाजी भी की गई। मंदिरों में शाम के वक्त विशेष पूजा-अर्चना की गई।  

यह भी पढ़ें: Ayodhya Ram Mandir: अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन पर उत्तराखंड में भी उत्साह

रोशन हुए दीये, आतिशबाजी भी  

नैनीताल में शाम ढलते ही घर-घर घी के दीये जलाए गए और आतिशबाजी की गई। हिंदू जागरण मंच के प्रदेश प्रचार प्रमुख हरीश सिंह राणा की ओर से राम मंदिर अयोध्या के भूमि पूजन के शुभ अवसर पर मंच कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर शाम श्री राम सेवक सभा मल्लीताल के प्रांगण में दीपोत्सव कार्यक्रम किया। राम जन्मभूमि आंदोलन से जुड़े हुए कारसेवक राजेंद्र बिष्ट, चंद्रशेखर रावत, तेज सिंह बिष्ट  द्वारा दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया। इसके पश्चात मिष्ठान वितरण किया गया। 

यह भी पढ़ें: Ayodhya Ram Mandir: गढ़वाल सांसद बोले, राममंदिर भूमि पूजन के साथ देशवासियों की मुराद हुई पूरी

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस