संवाद सूत्र, चकराता: जौनसार के जाड़ी गांव में महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के मामले में आरोपित पति को राजस्व पुलिस टीम ने घटना के नौ दिन बाद बाड़वाला के पास से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने मायके पक्ष की तहरीर के आधार पर आरोपित के विरुद्ध महिला की साजिशन हत्या करने का मुकदमा दर्ज किया था। गिरफ्तारी के बाद राजस्व पुलिस ने आरोपित को ढकरानी हरिपुर स्थित न्यायालय न्यायिक मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया, जहां से उसे अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया।

कुछ दिन राजस्व पुलिस क्षेत्र जाड़ी गांव के पास जंगल में पेड़ में बंधे फंदे से नीता देवी पत्नी कुंदन सिंह का शव मिला था। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम आदि की कार्रवाई की और स्वजन को सौंप दिया था। मामले में मायके पक्ष से मृतका के भाई मुंगाड़-भंगार निवासी शूरवीर सिंह ने राजस्व पुलिस को तहरीर देकर बहन की साजिशन हत्या का आरोप लगाया था। आरोप है कि घटना के दिन सात जून को पति-पत्नी के बीच किसी बात को लेकर कहासुनी व मारपीट हुई और उसके बाद महिला नाराज होकर कहीं चली गई, बाद में उसका शव पेड़ से बंधे फंदे में लटकता मिला। मायके पक्ष का आरोप है कि आरोपित पति अक्सर महिला से मारपीट करता था। आरोपित का किसी अन्य महिला से प्रेम-प्रंसग चल रहा है, जिस कारण दोनों के बीच पहले भी कई बार विवाद हुआ पर वह अपनी हरकतों से बाज नहीं आया। पत्नी को रास्ते से हटाने के लिए आरोपित ने साजिशन उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपित की गिरफ्तार के प्रयास शुरू किए, लेकिन सफलता नहीं मिली। इस बीच आरोपित को पकड़ने में की जा रही लेटलतीफी से नाराज स्थानीय ग्रामीणों ने तहसील कार्यालय चकराता में विरोध प्रदर्शन भी किया। एसडीएम संगीता कन्नौजिया के निर्देशन में राजस्व उपनिरीक्षक जाड़ी गुलशन हैदर, राजस्व उपनिरीक्षक लाखामंडल मोतीलाल जिनाटा, प्रीतम सिंह व राजेंद्र के नेतृत्व में दो टीमें बनाई गई। राजस्व उपनिरीक्षक गुलशन हैदर ने कहा कि बुधवार सुबह पुलिस को फरार चल रहे आरेापित कुंदन सिंह को बाड़वाला के पास होने की सूचना मिली। इसके तुंरत बाद पुलिस टीम ने दबिश देकर उसे मौके से गिरफ्तार कर लिया। एसडीएम संगीता कन्नौजिया ने कहा इस मामले को राजस्व पुलिस से हटाकर नियमित थाना पुलिस को सौंपने की रिपोर्ट जिला प्रशासन को प्रेषित की गई है।

Edited By: Jagran