देहरादून, जेएनएन। उत्तराखंड पावर कॉरपोरेशन लिमिटेड के पहले प्रबंध निदेशक डॉ. नीरज खैरवाल ने मंगलवार को वसंत विहार स्थित मुख्यालय पहुंचकर कार्यभार ग्रहण कर लिया। उन्होंने ऊर्जा निगम के अधिकारियों के साथ बैठक की, जिसमें राज्य में 23 घंटे निर्बाध विद्युत आपूर्ति का लक्ष्य लेकर काम करने को कहा।

बैठक में डॉ. नीरज खैरवाल ने देहरादून के डीएम रहते हुए विद्युत उपभोक्ताओं से जुड़े अपने अनुभव भी साझा किए। अपनी प्राथमिकताओं को बताते हुए उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की पारदर्शी नीति, आम जनता से सीधे संवाद और भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की नीति पर सभी को मिलकर कार्य करना है। उन्होंने कहा  कि प्रदेश के लगभग 25 लाख विद्युत उपभोक्ताओं में से लगभग 22 लाख घरेलू हैं।

ब्रेकडाउन (प्राकृतिक आपदा, तकनीकी फाल्ट होने पर) की स्थिति को छोड़कर सभी घरेलू उपभोक्ताओं को 23 घंटे से अधिक विद्युत उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाए। लाइन लॉस को 14 प्रतिशत से भी कम करने की दिशा में ठोस कदम उठाए जाएं। एमडी ने कहा कि विद्युत आपूर्ति में सुधार के लिए अन्य राज्यों की योजनाओं पर अमल किया जाएगा। इसके लिए उन्होंने निगम के आइटी डिपार्टमेंट से कहा कि वह अन्य राज्यों के विद्युत विभाग में चल रही योजनाओं का अध्ययन कर रिपोर्ट दें।

यह भी पढ़ें: उत्तराखंड में बिजली उपभोक्ताओं को लग सकता है झटका, हो सकती है बढ़ोत्तरी

आम उपभोक्ताओं से जुड़ें अधिकारी

ऊर्जा निगम के एमडी डॉ. नीरज खैरवाल ने कहा कि ऊर्जा मित्र और यूपीसीएल के अन्य एप्लीकेशन पर अधिकारी गंभीरता पूर्वक कार्य करें। इसके जरिए वह उपभोक्ताओं से जुड़ेंगे तो उनकी समस्याओं का भी त्वरित समाधान होगा। इससे निगम की छवि बेहतर होगी। 

यह भी पढ़ें: Prepaid Electricity Meters: सरकारी दफ्तरों में लगेंगे प्रीपेड बिजली मीटर, बड़े बकायेदारों पर डालें एक नजर

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस