ऋषिकेश, जेएनएन। ऋषिकेश के एक होटल में चार दिन पूर्व हरियाणा से आकर ठहरी एक महिला की कोविड रिपोर्ट पॉजिटिव आई। स्थानीय प्रशासन को इसकी जानकारी स्टेट कोविड कंट्रोल रूम से मिली। होटल प्रबंधन ने स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन को सूचित नहीं किया। प्रशासन ने पूरे होटल को कंटेनमेंट जोन बनाते हुए सील कर दिया।

स्वास्थ्य विभाग और स्थानीय प्रशासन को स्टेट कोविड कंट्रोल रूम से यह जानकारी मिली कि ऋषिकेश की एक प्राइवेट लैब में जांच के पश्चात एक 38 वर्षीय महिला की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। यह महिला वीरभद्र एम्स मार्ग स्थित योगा रिट्रीट में ठहरी है। 

स्वास्थ्य विभाग और पुलिस की टीम जब जांच करने इस होटल में पहुंची तो पता चला कि 30 जून को हरियाणा से यह महिला यहां पहुंची थी। एक जुलाई को कोरोना के लक्षण पाए जाने के बाद समीप स्थित प्राइवेट लैब आरोग्य डायग्नोस्टिक सेंटर में महिला का सैंपल जांच के लिए दिया गया। इसकी बीते गुरुवार को रिपोर्ट पॉजिटिव आई। 

जांच में यह बात भी सामने आई कि रिपोर्ट मिलने के बाद इस महिला को होटल प्रबंधन के द्वारा एम्स ऋषिकेश में भर्ती कर दिया गया। इतना सब कुछ हो जाने के बावजूद स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन को गाइडलाइन के मुताबिक संबंधित पक्ष ने जानकारी नहीं दी। 

उप जिलाधिकारी वरुण चौधरी ने इस मामले में स्वास्थ्य विभाग और पुलिस को जांच कर कार्रवाई को निर्देशित किया है। कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक रितेश शाह ने बताया कि जांच के पश्चात उक्त होटल को सील करते हुए कंटेनमेंट जोन बना दिया गया है। इस पूरे मामले की गहनता से जांच की जा रही है।

जांच के आधार पर डीएम को भेजेंगे रिपोर्ट 

मुख्य चिकित्साधीक्षक नरेंद्र सिंह तोमर के अनुसार, संबंधित संक्रमित महिला के बारे में गाइडलाइन के मुताबिक होटल प्रबंधन के द्वारा स्वास्थ्य विभाग को इसकी जानकारी नहीं दी गई। स्टेट कंट्रोल रूम से जानकारी मिलने के बाद हेल्थ सुपरवाइजर एसएस यादव और पुलिस टीम को जांच के लिए कहा गया है। जांच रिपोर्ट के आधार पर जिलाधिकारी को रिपोर्ट भेजी जाएगी। 

एम्स की नर्सिंग ऑफिसर सहित दो की रिपोर्ट पॉजिटिव

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ऋषिकेश में दो लोगों की कोरोना जांच रपोर्ट पॉजिटिव आई है। एम्स के जनसंपर्क अधिकारी हरीश मोहन थपलियाल ने बताया कि पहली मरीज गली नंबर पांच टिहरी विस्थापित पशुलोक ऋषिकेश निवासी 27 वर्षीय युवती है। वह एम्स संस्थान की ब्रेस्ट सर्जरी विभाग में नर्सिंग ऑफिसर है। जिसका बीती 30 जून को एम्स ओपीडी में कोविड सैंपल लिया गया था। 

यह भी पढ़ें: Coronavirus: कोरोना के लिहाज से उत्तराखंड में भारी गुजरा जून का महीना 

महिला नर्सिंग ऑफिसर बीते माह दो जून को रामपुर उत्तरप्रदेश से एम्स ऋषिकेश आई थी। दूसरा मरीज कोटद्वार पौड़ी गढ़वाल का है। कोटद्वार निवासी एक 40 वर्षीय पुरुष जो कि शरीर में दर्द की शिकायत के साथ बीती एक जुलाई को एम्स इमरजेंसी में आए थे।

यह भी पढ़ें: Coronavirus: कोरोना के साथ डिप्रेशन से भी लड़ाई, हेल्पलाइन नंबरों पर लें सलाह

Posted By: Bhanu Prakash Sharma

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस