जागरण संवाददाता, देहरादून: मौसम की पहली बारिश ने ही एडीबी विंग और पेयजल निगम की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े किए हैं। इन दोनों विभागों के द्वारा खोदी गई सड़कों के कारण लोगों को मुसीबत का सामना करना पड़ रहा है। हालत यह है कि बारिश के कारण खुदी सड़कों के कारण कीचड़ हो गया है। लोगों का घरों से निकलना दूभर हो गया है। लोगों का कहना है कि इस संबंध में संबंधित अधिकारियों को कई बार शिकायत की गई लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई।

दीपनगर क्षेत्र के रामकिशन पुरम में पेयजल निगम की ओर से अमृत प्रोजेक्ट के तहत चार महीने पहले पाइप लाइन डालने का काम पूरा कर दिया गया। लेकिन, इसके बाद सड़क का निर्माण नहीं किया गया। अब स्थिति ये है कि पूरी सड़क कीचड़ के कारण दलदल जैसी बन गई है और लोग अपने घर में कैद होने को मजबूर हो रहे हैं। इसी तरह से कारगी क्षेत्र के नारायण विहार, विद्या विहार का भी हाल ऐसा ही है। यहां भी पाइप लाइन डाली और सड़क को अपनी हालत पर छोड़ दिया गया। अब बारिश से सड़क कीचड़ से सन गई है और कई जगहों पर गड्ढे बन गए हैं, जिससे लोगों के चोटिल होने का खतरा बना हुआ है। पटेलनगर क्षेत्र में भी कई स्थानों पर एडीबी विंग की पाइप लाइन बिछाने का काम किया गया और सड़क को खुदी हालत में ही छोड़ दिया गया। यहां भी कई लोग जहां कीचड़ में रपटकर चोटिल हो चुके हैं, जबकि गड्ढे भी मुसीबत का सबब बने हुए हैं। मोहिनी रोड पर पेयजल निगम की ओर से एक छोटे के हिस्से में लंबे समय से सड़क नहीं बनाई गई, जिससे यहां भी लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। दून में ऐसे एक दो नहीं बल्कि दर्जन से ज्यादा इलाके जहां बारिश के बाद खुदी हुई सड़कों ने लोगों को खूब परेशान किया है। स्थानीय लोगों का कहना है कि इस संबंध में अधिकारियों को कई बार शिकायत भी गई, लेकिन आज भी सड़कों की हालत पहले जैसी बनी हुई है।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस