जागरण संवाददाता, देहरादून : अगर ट्रैकिंग आपकी हॉबी है और वादियों में फूलों की खुशबू के बीच आप इस शौक को पूरा करने की सोच रहे हैं तो यह आपके लिए खुशखबरी है। पिथौरागढ़ में सवा सात हजार फीट की ऊंचाई पर स्थित मुनस्यारी को पर्यटन विभाग ने ट्रैक आफ द ईयर घोषित किया है। ऊंचे पहाड़ों से घिरी खलिया टॉप मुनस्यारी सर्दियों में बर्फ से ढकी रहती है। वहीं गरमी में यहां की वादियां फूलों की खुशबू से महक उठती है।

चारधाम यात्रा में देश-दुनिया से आने वाले श्रद्धालुओं में तमाम ऐसे लोग भी शामिल होते हैं जो गरमी की छुट्टियां पहाड़ों में बिताना चाहते हैं। ऐसे लोगों को आकर्षित करने के लिए पर्यटन विभाग ने कोशिशें तेज कर दी हैं। एक्सप्लोर आउटिंग मोबाइल एप लांच करने के दूसरे दिन गुरुवार को पिथौरागढ़ के खलिया टॉप मुनस्यारी को ट्रैक आफ द ईयर घोषित किया गया है। सात हजार दो सौ फीट की ऊंचाई पर मुनस्यारी में 11, 500 फीट की ऊंचाई तक टै्रकिंग का मजा लिया जा सकता है। साथ ही हिमालय की पर्वत श्रृंखलाओं में स्थित नंदा देवी, नंदाखाट, राजरंभा, पंचाचूली, सुईतिला व नेपाल के मॉपी औश्र नांपा पीक चोटियों के दिल को छू लेने वाले नजारों का भी दीदार किया जा सकता है। वैसे भी खलिया टॉप की प्राकृतिक छटा व वादियों का सौंदर्य अभिभूत कर देने वाला होता है। सचिव पर्यटन भौलेश बगौली ने बताया कि ट्रैकिंग के लिए पहला दल चार मई को मुनस्यारी पहुंचेगा। यहां सात दिन चलने वाले कार्यक्रम की मेजबानी यूथ हास्टल आफ इंडिया व केएमवीएन को दी गई है। यहां पर्यटकों को लुभाने के लिए फोटो प्रतियोगिता का भी आयोजन किया जाएगा। केएमवीएन के एमडी डीएस गब्र्याल, यूथ हास्टल के मुख्य कार्यकारी अधिकारी युद्धिष्ठिर शर्मा, डीडी पर्यटन पूनम चंद को ट्रैकिंग की संपूर्ण व्यवस्था का जिम्मा सौंपा गया है।