संवाद सहयोगी, चम्पावत : पाटी विकास खंड की सबसे बड़ी आबादी वाले ग्राम पंचायत खरही के मतदान बूथ राप्रावि बुंगा तक सड़क सुविधा न होने से मतदान प्रतिशत प्रभावित हो सकता है। बूथ में 10 गांवों में 950 मतदाता हैं। सड़क सुविधा न होने से मतदाताओं में आक्रोश है। इनमें से कुछ गांवों के मतदाताओं ने वोटिग में हिस्सा न लेने का निर्णय लिया है।

खरही ग्राम पंचायत में क्वैराली, तल्ली खरही, मल्ली खरही, ईजर, बैजगांव, दियार चौड़ा, नाखोड़ा, ल्वारूड़ा, चौड़ा और कोट गांव आते हैं। ग्रामीणों का कहना है कि इन गांवों के लिए भिगराड़ा से लिंक रोड काटी गई है, लेकिन उसका लाभ सिर्फ दो गांवों को ही मिल रहा है। तल्ली खरही के सामाजिक कार्यकर्ता नवीन नाथ गोस्वामी ने बताया कि राजकीय प्राथमिक विद्यालय बुंगा में बनाए गए मतदान बूथ तक सड़क सुविधा नहीं होने से मतदान के लिए काफी कम संख्या में लोग पहुंचेंगे। नियमों के अनुसार मतदान बूथ तक सड़क होना जरूरी है। बताया कि मतदान बूथ के आस-पास ही जूनियर हाईस्कूल, पंचायत भवन, श्रीकृष्ण लीला मंच, आंगनबाड़ी केंद्र, बेलेश्वर महादेव मंदिर भी हैं। सड़क सुविधा न होने से स्कूली बच्चों को भी परेशानी का सामना करना पड़ता है। ग्रामीण ध्यान सिंह अधिकारी, नारायण सिंह, भरत सिंह, सूरज सिंह, जगदीश राम, शंकर शर्मा, प्रेम नाथ आदि ने बताया कि ग्राम पंचायत खरही में इस बार मतदाताओं की संख्या बढ़कर 950 हो गई है। बूथ तक सड़क सुविधा न होने से अधिकांश बुजुर्ग एवं महिला मतदाताओं का पहुंचना संभव नहीं है। उन्होंने बताया कि सड़क सुविधा का लाभ दिए जाने की मांग ग्रामीण लंबे समय से कर रहे हैं, लेकिन इस ओर न तो जनप्रतिनिधियों ने और ना ही प्रशासन ने कोई ध्यान दिया। बताया कि तल्ली खरही, मल्ली खरही एवं क्वैराला गांवों के लोगों ने मतदान में शामिल न होने का निर्णय लिया है। इस संबंध में 20 फरवरी को होने वाली बैठक में अंतिम निर्णय लिया जाएगा।

Edited By: Jagran