संवाद सहयोगी, चम्पावत : उत्तराखंड राज्य आंदोलनकारियों ने रविवार को खटीमा गोलीकांड में शहीद हुए आंदोलनकारियों को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान आयोजित सभा में वक्ताओं ने शहीदों के सपनों के अनुरूप राज्य की नीति और रीति निर्धारित करने की मांग की।

कार्यक्रम में वक्ताओं ने कहा कि उत्तराखंड के लोगों ने जिस सोच के आधार पर पृथक राज्य की कल्पना की थी वह आज भी साकार नहीं हो पाई है। बैठक की अध्यक्षता करते हुए बसंत ंिसंह तड़ागी ने कहा कि राज्य आंदोलन की लड़ाई में शहीद होने वाले लोगों वह सम्मान नहीं मिला जिसके वह हकदार थे। इस दौरान राज्य आंदोलनकारियों को मिलने वाली सरकारी सुविधाओं की समीक्षा भी की गई। निर्णय लिया गया कि 12 सितंबर को राज्य आंदोलनकारी संगठन की बैठक चम्पावत में आयोजित की जाएगी। जिसमें जिला और तहसील स्तर के पदाधिकारी भाग लेंगें। बैठक में ललित गोस्वामी, हरीश पांडेय, रघुराज सिंह देऊपा, शंकर दत्त पांडेय, जगदीश चन्द्र जोशी, डीके पांडेय, किशन गिरी, प्रकाश तिवारी, मंदीप ंिसंह ढेक, खीमानन्द पाण्डेय, सुनील गड़कोटी, मोहन सिंह चौधरी समेत कई राज्य आंदोलनकारी मौजूद रहे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस