जागरण संवाददाता, चम्पावत : नगर में बढ़ रही आपराधिक घटनाओं पर चिंता जताते हुए जनप्रतिनिधियों ने पुलिस व्यवस्थाओं पर सवाल उठाए हैं। उनका कहना है कि पुलिस द्वारा नगर की सुरक्षा को लेकर कोई प्रयास नहीं किए जा रहे हैं। इससे नगर में दिन-प्रतिदिन आपराधिक घटनाओं को बढ़ावा मिल रहा है। उन्होंने एसपी से रात के समय गश्त तेज करने की माग की है।

नगरपालिका सभागार में शुक्रवार को पालिकाध्यक्ष विजय वर्मा की अध्यक्षता में सभासदों ने बैठक की। बैठक में सभासदों ने विभिन्न वार्डो में हो रही चोरी, मारपीट और गुंडागर्दी की बढ़ती घटनाओं पर चिंता जताई। बताया कि दो दिन पूर्व ही एक व्यापारी पर जानलेवा हमला किया गया। इसके बाद भी पुलिस मूकदर्शक बनी रही। चार घटे तक अपराधी खुलेआम घूमता रहा।

पालिकाध्यक्ष वर्मा ने कहा कि पिछले दिनों अराजक तत्वों ने घरों के आगे से बाइकें उड़ाकर अन्यत्र पहुंचा दी। इस दौरान कुछ दुकानों से चोरी तक हो गई। इसके बाद भी पुलिस प्रशासन की ओर से गश्त में गंभीरता नहीं बरती जा रही है। उनका कहना है कि जिला मुख्यालय में कोतवाल का तबादला टनकपुर कर दिया गया। इससे मुख्यालय कोतवाली का पद रिक्त पड़ा है। उन्होंने एसपी से व्यवस्था ठीक करने की माग की है। बैठक में सभासद रोहित बिष्ट, नंदन तड़ागी, लोकेश पुनेठा, प्रकाश नाथ, रमेश भंडारी आदि मौजूद रहे।

==============

पालिकाध्यक्ष ने विभिन्न मुद्दों पर डीएम को सौंपा ज्ञापन

चम्पावत : बैठक के बाद पालिकाध्यक्ष के नेतृत्व में सभासदों ने डीएम को ज्ञापन सौंप जिला अस्पताल की व्यवस्थाओं को सुधारने तथा अस्पताल में चल रहे मामले की निष्पक्ष जांच की मांग की। जिससे लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मिल सकें। वहीं लोहाघाट सम्बद्ध सहायक लेखाकार जगदीश लाल साह को चम्पावत में संबद्ध करने की भी मांग की, ताकि पालिका के रुके कार्यो को आगे बढ़ाया जा सके। वहीं सभासदों ने नगर में बेसहारा जानवरों पर भी लगाम लगाने की मांग की।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस