संवाद सहयोगी, चम्पावत : विकास खंड के बिरगुल, मैरोली व बुंगाख्याली में मनरेगा सहित अन्य विभागों द्वारा किए गए कार्यो की जांच के आदेश कर दिए गए हैं। सीडीओ ने जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी का गठन कर एक सप्ताह के भीतर जांच रिपोर्ट देने के निर्देश दिए हैं।

बिरगुल के कन्यूड़ा गांव निवासी राम दत्त जोशी ने क्षेत्र में मनरेगा के अलावा विभिन्न विभागों द्वारा किए जा रहे विकास कार्यो में बड़े पैमाने पर धांधली कर सरकारी धन को ठिकाने लगाने का आरोप लगाया था। इस संबंध में उन्होंने जिलाधिकारी को भी ज्ञापन सौंपा था। उन्होंने कहा था कि मनरेगा के पुराने कार्य नए सिरे से नपवाए जा रहे हैं। मजदूरों को रोजगार देने में भी भेदभाव किया जा रहा है। उन्होंने अन्य विभागों द्वारा कराए जा रहे कार्यो पर भी लूट खसोट का आरोप लगाया था। जिलाधिकारी विनीत तोमर ने मामले की गंभीरता को देखते हुए सीडीओ आरएस रावत को उचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। जिसके बाद सीडीओ ने विकास कार्यो की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी गठित कर दी है। सीडीओ ने बताया कि खंड विकास अधिकारी पाटी डा. अमित ममगई की अध्यक्षता में सहायक खंड विकास अधिकारी एवं अपर सहायक अभियंता ग्रामीण निर्माण विभाग की टीम को जांच सौंपी गई है। उन्होंने बताया कि कमेटी को एक सप्ताह के भीतर जांच रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है। विकास कार्यो में धांधली की जांच के निर्देश के बाद शिकायत कर्ता राम दत्त जोशी ने डीएम और सीडीओ का आभार जताते हुए कहा है कि इससे विकास कार्यो की सच्चाई सामने आएगी और मिली भगत में शामिल विभागों की कलई भी जनता के सामने खुलेगी।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप