संवाद सहयोगी, लोहाघाट : देवीधुरा बग्वाल मेले में सांस्कृतिक कार्यक्रमों की धूम मची हुई है। जिसमें जय गोल्ज्यू के कलाकारों ने कुमाऊंनी, नेपाली, पंजाबी, गढ़वाली, राजस्थानी सहित विभिन्न प्रांतों पर आधारित संस्कृति कार्यक्रमों की प्रस्तुति देकर दर्शकों को मंत्रमुग्ध किया। देर रात तक दर्शकों ने सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आंनद उठाया। सांस्कृतिक संध्या का शुभारंभ जय गोलज्यू दल के कलाकारों ने मा बाराही की स्तुति मां बाराही आयूं तेरा द्वार.. की प्रस्तुति देकर किया। कलाकार रिमझिम, चांदनी, सरोज, कंचन ने खैनी चूरट खानछ की हूंट कालो हुनछ की.., दिन धारी आगे हेगछ दुपहरी मधुली.. की प्रस्तुति ने दर्शक दीर्घा में बैठे लोगों को थिरकने को मजबूर कर दिया। नन्ही बाल कलाकार रिमझिम के पंजाबी, गढ़वाली, गुजराती गीतों में नृत्य को दर्शकों ने खूब सराहा। देर रात तक ने दर्शकों कलाकारों का उत्साह वर्धन किया। मेला समिति के अध्यक्ष खीम सिंह लमगड़िया, भुवन चंद्र जोशी, कीर्ति बल्लभ जोशी, देवेंद्र पांडेय, विनोद गड़कोटी, दीपक बिष्ट, मोहन सिंह, दिवान सिंह शामिल रहे।

--

चित्रकला में मनीषा, सुलेख शिवांगी ने मारी बाजी

लोहाघाट : देवीधुरा मेले में खोलीखाड दूबाचौड़ मैदान में विभिन्न प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। जिसमें में स्कूली बच्चों ने बढ़चढ़ कर प्रतिभाग किया। आयोजित चित्रकला प्रतियोगता में मनीषा माहरा, सुमिता जोशी, पूनम आर्या, अनुराग गोस्वामी, सुलेख प्रतियोगिता में शिवांगी जोशी, रेशमा आर्या, अंशिका भट्ट, लक्ष्मी, अमित बिष्ट क्रमश: पहले, दूसरे, तीसरे, चौथे व पांचवे स्थान पर रहे। बालीबाल प्रतियोगिता में आठ टीमों ने नामांकन कराया है।

--

मां बाराही मंदिर में हुई पूजा अर्चना

लोहाघाट : देवीधुरा मेले के चौथे दिन सुबह से ही मंदिर में पूजा अर्चना का दौर चलता रहा। अल्मोड़ा नैनीताल से पहुंचे लोगों ने मंदिर में छत्र चढ़ाए। मंदिर में पूजा अर्चना कीर्ति बल्लभ जोशी भुवन चंद्र जोशी ने संपन्न कराई।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप