संवाद सहयोगी, गोपेश्वर : चमोली जिले में कोरोना को लेकर लगातार बढ़ रहे हैं। बावजूद इसके लोग सरकारी नियमों का पालन करने को तैयार नहीं हैं। सेना की कैंटीन में सामान खरीदने आ रहे पूर्व सैनिकों की भीड़ शारीरिक दूरी को इस तरह नजरअंदाज कर रही है, मानो शारीरिक दूरी का नियम परिसर में लागू ही नहीं होता।

चमोली जिले में भूतपूर्व सैनिकों को सस्ते दर पर जरूरी सामान उपलब्ध कराने के लिए क्षेत्रपाल में सेना की कैंटीन है। यह कैंटीन लॉकडाउन के बाद एक सप्ताह से खुल गई है। लेकिन इस कैंटीन में सुबह से ही सेना के छुट्टी पर आए जवानों, भूतपूर्व सैनिकों, सैनिकों के परिजनों की भीड़ लगी है। सेना ने कैंटीन संचालन के लिए कैंटीन के अंदर प्रवेश पर प्रतिबंध लगाया हुआ है। वह बदरीनाथ हाइवे से लगी अपनी बाउंड्री जाली से ही सामान की पर्ची व टोकन ले रहे है और फिर पेमेट लेने के बाद सामान उपलब्ध करा रहे है। लेकिन कैंटीन के बाहर शारीरिक दूरी के साथ लाइन लगाना तो दूर ऐसी भीड़ उमड़ी है कि हाइवे पर भी वाहनों की आवाजाही मे दिक्कतें हो रही है। सामान लेने आए कई लोग तो ऐसे भी हैं जिनका मास्क भी नहीं पहना है।

पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान ने बताया कि क्षेत्रपाल कैंटीन में भूतपूर्व सैनिकों को सामग्री लेने के दौरान शारीरिक दूरी मानकों के पालन करवाने को कहा गया है। पुलिस भी मौके पर जाकर सभी को नियमों से अवगत करा रही है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस