संवाद सहयोगी, गोपेश्वर : दशोली विकासखंड की लासी ग्राम पंचायत में अनियमितता की शिकायत के बाद भी प्रशासन की ओर से जांच शुरू न कराए जाने पर ग्रामीणों ने नाराजगी जताई है। उन्होंने इस संबंध में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी व जिलाधिकारी हिमांशु खुराना को पत्र भेजा है। ग्रामीणों का कहना है कि यदि इस मामले में जल्द कार्रवाई नहीं की गई तो वे बेमियादी अनशन शुरू कर देंगें।

लासी गांव के वीरेंद्र सिंह बिष्ट ने बताया कि सूचना अधिकार अधिनियम के तहत उन्होंने ग्राम सभा के कार्यों की जानकारी मांगी तो 34 बिदुओं पर अनियमितता की बात सामने आई। इसमें खुली बैठकों में ग्रामीणों के फर्जी हस्ताक्षर, पुराने कार्यों को लीपापोती कर नया दिखाने सहित अन्य बिदु हैं। उन्होंने आरोप लगाया कि मामले में एक माह से अधिक का समय बीत गया है। परंतु प्रशासन द्वारा गठित जांच टीम ने अभी तक जांच शुरू नहीं की है।

ग्रामीण वीरेंद्र सिंह बिष्ट, देवेंद्र सिंह कुंवर, विक्रम सिंह, मनवर सिंह पुत्र गजे सिंह व मनवर सिंह पुत्र भरत सिंह ने जिलाधिकारी कार्यालय पर बेमियादी अनशन करने की चेतावनी दी है। शिकायतकत्र्ताओं ने प्रशासन से यह भी मांग की है कि जांच में उच्च स्तरीय अधिकारियों को शामिल किया जाए। वहीं जिला पंचायत राज अधिकारी राजेंद्र गुंज्याल ने बताया कि उन्होंने एडीओ पंचायत विनोद प्रसाद ममगाई को जांच सौंपी है। जबकि जांच अधिकारी ममगाई का कहना है कि ग्राम पंचायत विकास अधिकारी के बीमार होने व अन्य कारणों से अभी तक जांच शुरू नहीं हो पाई है। स्वयंसेवकों ने चलाया सफाई अभियान

संवाद सूत्र, गौचर: आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत राजकीय बालिका इंटर कालेज गौचर की राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई की ओर से नगर क्षेत्र में स्वच्छता अभियान चलाकर एकल प्लास्टिक कचरा निस्तारण किया गया।

स्वयंसेवकों ने मुख्य बाजार में जागरूकता रैली निकाली। इस दौरान 10 किलो एकल प्लास्टिक को एकत्रित कर नगर पालिका को सौंपा गया। कार्यक्रम अधिकारी विजयलक्ष्मी देवली ने कहा कि स्वयं सेवी छात्राएं नियमित रूप से प्लास्टिक कचरा एकत्रित कर रहे हैं। कार्यक्रम में नगर पालिका अध्यक्ष अंजू बिष्ट, शशि देवी नेगी भी शामिल रहे।

Edited By: Jagran