गोपेश्वर: उत्तराखंड अध्यापक पात्रता फार्म में मानकों में फेरबदल पर बीएड अभ्यर्थियों ने आक्रोश जताया है। उन्होंने मानकों में बदलाव न करने पर न्यायालय जाने की चेतावनी दी है।

बीएड अभ्यर्थियों की गोपेश्वर में आयोजित बैठक में बताया गया कि सरकार ने उत्तराखंड अध्यापक पात्रता फार्म 2018 में बीएड अभ्यर्थियों को भी मौका दिया गया है। मगर सरकार ने वर्तमान में स्नातक में सामान्य वर्ग के लिए 50 फीसद और एससी एसटी ओबीसी के लिए 45 प्रतिशत मानक रखा गया है। इससे पूर्व स्नातक में सामान्य जाति के लिए 45 प्रतिशत तथा एससी एसटी ओबीसी में 40 प्रतिशत मानक निर्धारित किया गया था। वर्ष 2011-12 से पहले जिन अभ्यथिर्यों के सामान्य जाति में 45 व एससी एसटी ओबीसी के 40 प्रतिशत अंक स्नातक में निर्धारित थे उन्हें ही सरकार से बीएड करवाया गया। बैठक में नंदन ¨सह गड़िया, मुकेश कुमार, महावीर ¨सह, सुदेश पंवार शामिल हैं। (संस)

Posted By: Jagran