थराली बीटीसी में जिलास्तरीय अधिकारियों के न पहुंचने पर सदस्यों का हंगामा

संवाद सूत्र, थराली : क्षेत्र पंचायत थराली की बैठक में सदस्यों ने जिला स्तरीय अधिकारियों के सदन में नहीं पहुंचे व पिछले माह हुई समीक्षा बैठक में प्रधानों को नहीं बुलाने पर जमकर हंगामा किया। बाद में ब्लाक प्रमुख के आश्वासन के बाद सदस्य शांत हुए। बैठक में सदस्यों ने सड़क, शिक्षा, स्वास्थ्य, पेयजल, बाढ़ सुरक्षा, आपदा, वन, कृषि सहित अन्य मुद्दे पर चर्चा की। ब्लाक सभागार थराली में ब्लाक प्रमुख कविता नेगी की अध्यक्षता में आयोजित बीडीसी बैठक में सदस्यों ने समीक्षा बैठक में प्रधानों को नहीं बुलाने पर आक्रोश व्यक्त करते हुए भारी हंगामा किया। प्रमुख ने भविष्य में इस तरह की बैठकों में प्रधानों को भी बुलाने का आश्वासन दिया, जिसके बाद सदस्य शांत हुए। इसके बाद सदस्यों ने सदन में जिला स्तरीय अधिकारियों के नहीं आने का मामला उठाया। जिस पर फिर से हंगामा खड़ा हो गया। प्रमुख ने इस संबंध में शासन व प्रशासन को लिखने का आश्वासन दिया, जिसके बाद सदन की कार्यवाही आगे बढ़ी। सदस्यों ने पिछली बैठक में दर्ज तमाम समस्याओं का अब तक निराकरण नहीं होने का मामला भी सदन में उठाया। विभागावार चर्चा करते हुए सोल डुग्री क्षेत्र में बिजली के तार लटकने, चिड़िगा में ट्रांसफार्मर लगाने सहित अन्य मांगें उठाई गई। ग्राम प्रधान कुनीपार्था प्रमिला देवी ने थराली-कुराड़-पार्था मोटर मार्ग की खस्ताहाल स्थिति पर रोष जताते हुए कहा वर्षाकाल शुरू हो गया है, लेकिन अभी तक सड़क मार्ग को दुरुस्त नहीं किया गया, जिससे आवाजाही में भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। इस दौरान थराली-देवाल-वांण राजमार्ग की बदहाली का मुद्दा भी जोर-शोर से उठाया गया। तलवाड़ी प्रधान दीपा देवी ने लगातार तलवाड़ी-विनायकधार मोटर मार्ग पर सदन में प्रस्ताव देने के बाद भी कोई कार्यवाही न होने पर नाराजगी जाहिर की। वहीं स्वास्थ्य पर चर्चा करते हुए सीएचसी थराली में लंबे समय बाद भी एक्सरे मशीन को ठीक नहीं करने एवं अल्ट्रासाउंड मशीन नहीं होने पर सदस्यों ने रोष जताया। सदन में वर्षाकाल को देखते हुए प्रशासनिक स्तर पर व्यवस्थाओं को चाक-चौबंद करने की बात कही। सदन में मौजूद जिला पंचायत सदस्यों ने भी सदस्यों से विशेष सतर्कता बरतने की अपील की। इस मौके पर ज्येष्ठ प्रमुख महावीर शाह, कनिष्ठ प्रमुख राजेंद्र सिंह, लोनिवि थराली के अधिशासी अभियंता अजय काला, सहायक अभियंता धर्मेंद्र रावत, सिंचाई विभाग के ईई राजकुमार, जेई जसपाल सिंह, जिला शिक्षाधिकारी अतुल सेमवाल, बिजली विभाग के एसडीओ अतुल कुमार, बीडीओ श्रीपति लाल, जल निगम के जेई हेमंत कुमार सहित तमाम स्थानीय अधिकारी मौजूद थे। बैठक में प्रधान संघ अध्यक्ष जगमोहन रावत, क्षेपंस देवेंद्र रावत, कलम सिंह, विरेंद्र फर्स्वाण, कैलाश देवराड़ी, दीपा देवी, प्रेम शर्मा, प्रेम शंकर रावत, कुंवर रौथाण, आशु रावत, बबीता देवी आदि ने चर्चा में भाग लिया।

Edited By: Jagran