संवाद सहयोगी, गोपेश्वर: दशोली विकासखंड के ग्वाड़ गांव में एक व्यक्ति के घर से वन विभाग की टीम ने हिमालयन थार का मांस बरामद किया। मंगलवार को न्यायालय में पेश करने के बाद उसे जिला कारागार पुरसाड़ी भेज दिया गया। वन विभाग की ओर से बरामद मांस भी जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा गया है। उधर, आरोपित संजय बिष्ट की निशानदेही पर अन्य ग्रामीणों से पूछताछ के लिए रेंज अधिकारी आरती मैठाणी के नेतृत्व में शाम को दोबारा ग्वाड़ पहुंची वन विभाग की टीम को ग्रामीणों का भारी विरोध झेलना पड़ा। ग्रामीणों ने जाम लगाकर टीम को गांव से बाहर नहीं जाने दिया। बाद में पुलिस के वहां पहुंचने पर किसी तरह मामला शांत हुआ।

केदारनाथ वन्य जीव प्रभाग में हिमालयन थार, काला भालू, कस्तूरी मृग, स्नो लेपर्ड जैसे दुर्लभ प्रजाति के वन्य जीवों का प्राकृतिक वास है। यही वजह है कि वन्य जीव तस्करों की भी यहां सक्रियता रहती है। केदारनाथ वन्य जीव प्रभाग की रेंज अधिकारी आरती मैठाणी ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर मंगलवार सुबह वन विभाग की टीम ने ग्वाड़ गांव पहुंचकर संजय बिष्ट के घर पर छापा मारा तो वहां हिमालयन थार का मांस बरामद हुआ। उसे न्यायालय में पेश करने के बाद जेल भेज दिया गया। रेंज अधिकारी के मुताबिक आरोपित से पूछताछ में अन्य व्यक्तियों के भी इस प्रकरण में शामिल होने की बात सामने आई। इस पर वन विभाग की टीम शाम को दोबारा जब ग्वाड़ पहुंची तो ग्रामीणों ने जाम लगाकर उसे घेर दिया। देर रात तक ग्रामीण वन कर्मियों की टीम को घेरे रहे। इस बीच पुलिस फोर्स भी मौके पर पहुंच गई। रेंज अधिकारी आरती ने बताया कि जाम लगने के दौरान आम आदमी पार्टी के नेता कर्नल अजय कोठियाल वहां से गुजर रहे थे। उन्होंने ग्रामीणों से बातचीत कर मामला शांत कराया।

Edited By: Jagran