संवाद सहयोगी, गोपेश्वर : मुख्य सचिव डा. एसएस संधू ने शुक्रवार को चमोली जिले के जोशीमठ के औली व उर्गम घाटी क्षेत्र का भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने औली मास्टर प्लान को लेकर संबंधित अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। कहा कि औली को व‌र्ल्ड क्लास टूरिज्म डेस्टिनेशन के रूप में तैयार किया जा रहा है, जिसके लिए मास्टर प्लान लगभग अंतिम चरण में है। वहीं, मास्टर प्लान पर प्रजेंटेशन के माध्यम से चर्चा की गई। उन्होंने कहा कि यहां भूमि को लेकर कुछ समस्याएं हैं, जिनका आइटीबीपी, आर्मी तथा पर्यटन विभाग के साथ समाधान ढूंढने की बात की गई, जिससे प्रोजेक्ट को जल्द से जल्द शुरू किया जा सके। इस दौरान उन्होंने औली का स्थलीय निरीक्षण भी किया। साथ ही यात्रा को लेकर खुशी जाहिर करते हुए उन्होंने कहा कि इस बार रिकार्ड श्रद्धालु पहुंच रहे हैं, जिससे स्थानीय व्यापारियों को अच्छी आय प्राप्त होगी।

इसके बाद मुख्य सचिव उर्गम घाटी पहुंचे। यहां उन्होंने पंचम केदार कल्पेश्वर मंदिर में भगवान शंकर के दर्शन कर पूजा-अर्चना की। कल्पेश्वर मंदिर के दर्शन करके अभिभूत हुए मुख्य सचिव ने कहा कि भगवान शंकर का यह अत्यधिक सुंदर और महत्वपूर्ण स्थान है। इस स्थान के विकास के लिए हर संभव प्रयास किया जाएगा। साथ ही पंच केदार कल्पेश्वर की सड़क अत्यधिक खराब होने पर उन्होंने कहा इसको ठीक करने के लिए उच्च अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। शीतकालीन पर्यटन की संभावनाएं क्षेत्र में दिखती है, यहां के ट्रैकिंग मार्गों का विकास किया जाएगा। पुनर्वास के संबंध में उन्होंने कहा कि शीघ्र जिलाधिकारी इस प्रकरण में कार्रवाई करेंगे। उर्गम देवग्राम गांव के पुनर्वास के संबंध में विस्तार से चर्चा करते हुए भेंटा-भरकी मोटर मार्ग के कार्य में तेजी लाने के आदेश भी मुख्य सचिव ने अधिकारियों को दिए। इस दौरान कल्पेश्वर मंदिर समिति के अध्यक्ष विनोद नेगी ने उन्हें स्मृति चिह्न एवं शाल भेंट किया। सामाजिक कार्यकत्र्ता जनदेश के सचिव लक्ष्मण सिंह नेगी ने पंच केदार एवं नंदा राजजात 2014, जल संस्कृति एवं सतोपंथ की फोटो मुख्य सचिव को भेंट की। इस दौरान जिला अधिकारी हिमांशु खुराना, एसडीएम कुमकुम जोशी सहित कई विभागीय अधिकारी मौजूद थे।

Edited By: Jagran