संवाद सहयोगी, गोपेश्वर :

हेमकुंड यात्रा मार्ग पर शौचालय , पेयजल, सफाई व्यवस्था को लेकर किए जा रहे दावों की हकीकत तब सामने आई जब प्रभारी जिलाधिकारी वरूण चौधरी शिकायतों के बाद स्वयं यात्रा मार्ग पर निरीक्षण के लिए गए। पैदल यात्रा मार्ग पर स्टैंड पोस्ट में पानी तो दूर नल ही नहीं जुड़ा था। शौचालयों में सिर्फ बोर्ड पर ही स्वच्छता का दावा था जमीनी हकीकत यह मिली कि अधिकतर शौचालयों में ना पानी ना सफाई। हकीकत सामने आने से गुस्साए प्रभारी जिलाधिकारी ने मौके पर मौजूद विभागीय अधिकारियों को फटकार लगाकर तुरंत एक जून तक व्यवस्थाएं सुचारू करने के निर्देश दिए।

दैनिक जागरण ने 26 मई के अंक में हेमकुंड यात्रा, कड़वे अनुभव लेकर लौट रहे हैं यात्री शीर्षक से यात्रा मार्ग पर सफाई, पेयजल व शौचालयों की वास्तविक तस्वीर सामने रखी थी। लेकिन, तब जल संस्थान सहित अन्य विभागों के अधिकारी दावा कर रहे थे कि सबकुछ ठीक है।

शनिवार को प्रभारी जिलाधिकारी वरूण चौधरी ने यात्रा मार्ग पर आकस्मिक निरीक्षण किया तो पाया कि पुलना में पिलर टाइप स्टैंड पोस्ट (पीटीएसपी) लगाया गया है। जिसे पेंट कर यात्रियों के लिए आकर्षक बनाया गया। परंतु इस पर पानी का कनेक्शन जुड़ा ही नहीं है। शौचालय में पानी और सप्लाई भी नहीं है। जिससे शौचालय स्वच्छता के बजाए गंदगी का पर्याय बना हुआ है। कई शौचालयों की मरम्मत ही नहीं हुई है। प्रभारी जिलाधिकारी ने जल संस्थान को तत्काल पानी की व्यवस्था सुचारू करने के निर्देश दिए। वही पर्यावरण विकास समिति (ईडीसी) को फटकार लगाते हुए शौचालय की नियमित साफ सफाई रखने के निर्देश दिए। कहा कि भ्यूंडार, जंगलचट्टी, घोड़ा पड़ाव, घांघरिया, पुलना में स्थित शौचालयों में साफ सफाई की नियमित व्यवस्था की जाए। जिन शौचालयों की मरम्मत की जानी है, तत्काल उनकी मरम्मत करना सुनिश्चित करें। प्रभारी जिलाधिकारी ने कहा कि हेमकुंड यात्रा मार्ग की सभी व्यवस्थाओं का एक जून को फिर से निरीक्षण किया जाएगा। हिदायत दी कि यात्रा व्यवस्थाओं में लापरवाही पाई गई, तो संबधित अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई अमल में लाई जाएगी। जल संस्थान के अधिशासी अभियंता सुशील कुमार सैनी ने बताया कि हेमकुंड यात्रा मार्ग पर 30 पीटीएसपी व टीटीएसपी है। घांघरिया स्थित टीटीएसपी पर काम चल रहा है। अगले 15 दिनों में कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा। पुलना स्थित पीटीएसपी व शौचालय में आज ही पानी सुचारू कर लिया जाएगा।

इससे पूर्व प्रभारी जिलाधिकारी ने गोविद घाट गुरुद्वारे में अधिकारियों की बैठक लेते हुए यात्रा व्यवस्थाओं की समीक्षा भी की। जिसमें संबंधित अधिकारियों को जरूरी निर्देश दिए गए। इस दौरान गुरुद्वारा ट्रस्ट के प्रबंधक सेवा सिंह, जल संस्थान के अधिशासी अभियंता राजेश निरवाल, जिला पर्यटन अधिकारी एसएस राणा, थाना प्रभारी नरेन्द्र सिंह, सुलभ संस्था के प्रभारी व्यस्थापक मनोज झा आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran