जागरण संवाददाता, बागेश्वर: बीएसएनएल की ब्रॉडबैंड सेवा सातवें दिन भी बेपटरी रही। जिससे उपभोक्ताओं का पारा चढ़ गया। उन्होंने जेटीओ का घेराव किया और और बीएसएनएल दफ्तर मे तालाबंदी कर दी। उपभोक्ताओं ने चेतावनी दी कि यदि ब्रॉड बैंड सेवा जल्द सुचारू नहीं हुई तो उग्र आंदोलन शुरू कर दिया जाएगा।

मालूम हो गत शुक्रवार से बीएसएनएल की ब्रॉड बैंड सेवा पटरी से उतरी हुई है। आलम यह है कि विभाग के अधिकारी न तो समस्या का समाधान करने को तैयार हैं और न ही शिकायत सुनने को। गुरुवार को उपभोक्ताओं का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच गया। स्थानीय कार्यालय जाकर उन्होंने जेटीओ का घेराव किया। कहा कि उनके कामकाज पूरी तरह ठप हो गए हैं। जीएसटी आनलाइन होने से व्यापारी और कामकाजी लोगों की दिक्कतें बढ़ गई हैं। उन्हें 200 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से पेनाल्टी जमा करनी पड़ रही है। इसके अलावा एआरटीओ कार्यालय में लाइसेंस से लेकर अन्य शुल्क जमा नहीं हो पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि शिकायत करने पर भी कोई कार्रवाई नहीं हो सकी है। सात दिन से सेवा पटरी से उतरी हुई है। उपभोक्ताओं ने कहा कि यदि शीघ्र सेवा सुचारू नहीं हुई तो वे आर-पार की जंग शुरू कर देंगे।

इस मौके पर धीरज कोरंगा, नरेश उप्रेती, चंद्रशेखर, हरीश पांडे, उमेश चंद्र समेत दर्जनों उपभोक्ता मौजूद थे। इधर जेटीओ सीएस लोहनी ने कहा कि 400 ब्रॉडबैंड कनेक्शन हैं। जिसमें करीब 94 ठीक हो गए हैं। समस्या को दूर करने के लिए एक तकनीकी टीम को बाहर से भी बुलाया गया है।

=========

::::::वर्जन-

कर्मचारी समस्या के समाधान के लिए लगे हैं। एक बोर्ड बदलकर देख लिया है। इसके बाद कुछ नंबरों ने काम करना शुरू किया है। अब दूसरा बोर्ड बदला जा रहा है। इसके बाद भी यदि समस्या नहीं सुलझी तो सारे नंबर दोबारा से री-स्टोर किए जाएंगे।

-एके गुप्ता, जीएम, बीएसएनएल

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran