जागरण संवाददाता, बागेश्वर: बीएसएनएल की ब्रॉड बैंड सेवा पूरी तरह पटरी से उतर गई है। इंटरनेट सेवा चौथे दिन भी ठप रही। जिससे सरकारी और गैर सरकारी कामकाज प्रभावित हो गया है। बीएसएनएल कर्मचारी फाल्ट खोजने में पूरी तरह नाकाम हो गए हैं। जिससे उपभोक्ताओं का आक्रोश बढ़ने लगा है और उन्होंने अब उग्र आंदोलन की चेतावनी दी है।

शहर में करीब 400 ब्राडबैंड कनेक्शन बीएसएनएल ने दिए हैं। जबकि हर माह विभाग भारी भरकम बिल भी उपभोक्ताओं को देता है। समय पर बिमल जमा नहीं होने पर कनेक्शन काट दिए जाते हैं। पिछले चार दिनों से नगर में बीएसएनएल की ब्रॉड बैंड सेवा पटरी से उतरी हुई है। विभागीय कर्मचारी फाल्ट खोजने में पूरी तरह नाकाम हो गए हैं। उपभोक्ता सेवा बहाल कराने के लिए रोज दफ्तर पहुंच रहे हैं। कर्मचारी उन्हें बंगलुरू में फाल्ट होने की बात कह कर लौटा रहे हैं। ब्रॉड बैंड सेवा ठप होने से सरकारी और गैर सरकारी कामकाज पूरी तरह ठप हो गया है। तहसील, कलक्ट्रेट, विकास भवन में इंटरनेट सेवा शोपीस बनी हुई है। जिससे विभिन्न प्रकार के प्रमाणपत्र, आधार कार्ड, पैनकार्ड समेत अन्य दस्तावेज नहीं बन पा रहे हैं। रोजगार की तलाश में रोज साइबर कैफे आने वाले युवा भी परेशान हैं। सरकारी साइट भी नहीं खुल पा रही हैं। जिससे युवा बेरोजगार नौकरी के लिए आवेदन भी नहीं कर पा रहे हैं। इसके अलावा सरकारी सूचनाओं का आदान-प्रदान भी नहीं हो पा रहा है।

उपभोक्ता देवेंद्र पांडे, केशव भट्ट, च्वाला पांडे, जगदीश उपाध्याय, मनोज कुमार, सुंदर सिंह, खीम सिंह, पूरन चंद्र आदि ने कहा कि यदि ब्राडबैंड सेवा जल्द दुरुस्त नहीं हुई तो आंदोलन शुरू कर दिया जाएगा।

---------

:::::: इनसेट

सटीक जानकारी का अभाव

बीएसएनएल के जीएम एके गुप्ता के अनुसार लोकल फाल्ट है। जिसे स्थानीय स्तर पर ही दुरुस्त किया जाना है। स्थानीय जेटीओ एसएस लोहनी कहते हैं कि फाल्ट बंग्लूरू से है। ऐसे में दो अधिकारियों के अलग-अलग बयानों से भी उपभोक्ताओं में भारी आक्रोश है।

==========

::: वर्जन-

ब्राडबैंड सेवा को जल्द दुरुस्त करने के निर्देश दिए गए हैं। बीएसएनएल कर्मियों की लापरवाही से जनता को परेशानी हो रही है। यदि सेवाएं सुचारू नहीं हुई तो आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

-राहुल गोयल, एडीएम, बागेश्वर।

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran