जागरण संवाददाता, बागेश्वर: सोमवार को कलक्ट्रेट में आयोजित जनसुनवाई में पेयजल, सड़क और शिक्षा से संबंधित तमाम समस्याओं को लेकर लोग पहुंचे। जिलाधिकारी ने 36 शिकायतें सुनी और सात दिन के भीतर उनका समाधान करने के निर्देश आला अफसरों को दिए।

डीएम रंजना राजगुरु ने कहा कि आम जनता की समस्याओं का त्वरित निस्तारण किया जा रहा है। लोग तभी जनता मिलन कार्यक्रम का हिस्सा बन रहे हैं। अफसरों को भी उनकी समस्याओं का समाधान एक सप्ताह के भीतर करना है और उसकी जानकारी उन्हें भी देनी है। राजकीय इंटर कालेज गुलेर के अभिभावकों ने सहायक अध्यापक विज्ञान, हिदी, प्रवक्ता नागरिक शास्त्र, इतिहास और हिदी की डिमांड की। सिमस्यारी गांव के प्रदीप कुमार ने पानी की समस्या बताई। कहा कि दो किमी दूर से गांव के लोग पानी लाने को मजबूर हैं। भटखोला गांव के नवल किशोर ने जोशीगांव में हैंडपंप की सोलर व्यवस्था दुरुस्त करने की मांग की। गांव में पेयजल आपूíत करने को कहा। देवलचौरा गांव से आए गोपाल सिंह मेहता ने निर्माणाधीन पेयजल योजना की शिकायत की और गुणवत्ता की जांच की मांग की। लीती गांव के बलवंत कोरंगा ने गुलदार का आतंक होने की जानकारी दी और वन विभाग से पिजरा लगाने की मांग की। इसके अलावा प्रधानमंत्री आवास योजना से घर की मुराद पूरी नहीं होने पर भी कई लोग डीएम के पास पहुंचे। सड़क और सिचाई के पानी की भी मांग की गई। इस मौके पर सीडीओ एसएसएस पांगती, एसडीएम राकेश चंद्र तिवारी, सीवीओ डॉ. उदय शंकर, पीडी शिल्पी पंत, ईई विद्युत भास्कर पांडे, लोनिवि ईई संजय पांडे, डिप्टी सीएमओ डॉ. बीके सक्सेना, सीईओ नरेश शर्मा, बीपी मौर्य, एनएस गस्याल, अरुण कुमार वर्मा आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप