जागरण संवाददाता, बागेश्वर: कपकोट तहसील के पुड़कुनी गांव के लोगों ने गुरुवार को पानी के लिए जिला मुख्यालय में प्रदर्शन किया। गांव के लिए अलग से गणपति नामक स्थान से आपूर्ति करने की मांग की। ग्राम प्रधान रेखा आर्या के नेतृत्व में ग्रामीणों ने नारेबाजी की। सभा में वक्ताओं ने बताया कि उत्तराखंड पेयजल निगम ने उनके गांव के लिए गणपति नामक स्थान पर योजना के लिए सर्वे भी किया, लेकिन जगनाथा के कुछ लोगों के विरोध के कारण काम रोक दिया है। गणपति से जगथाना की दूरी 35 किमी है, जबकि उनके गांव की दूरी एक किमी है। जगथाना में पानी के कई स्त्रोत हैं। उनके गांव में पानी का संकट है। ग्रामीण पांच से छह किमी दूर से पानी पीठ पर ढोने को मजबूर हैं। उन्होंने जल्द समस्या के समाधान की मांग की है। मांग पूरी नहीं होने पर आंदोलन तेज करने की चेतावनी दी है। इस मौके पर रमेश सिंह, नरेद्र तड़ागी, हीरा सिंह, तारा सिंह, मंजू देवी, लछिमा देवी, प्रभा देवी आदि मौजूद थे। गावों को पंपिंग पेयजल योजना से जोड़ें

रानीखेत : ताड़ीखेत ब्लॉक के गावों को कोसी नदी पर निर्माणाधीन मझेड़ा ब्यासी पंपिंग पेयजल योजना से पेयजल आपूर्ति करने की मांग जोर पकड़ने लगी है। ग्रामीणों ने बताया कि योजना से गावों को जोड़ा जाए तो काफी हद तक कई समस्याओं से निजात मिल जाएगी।

गर्मी बढ़ने के साथ ही गावों में पेयजल संकट भी बढ़ने लगा है। ताड़ीखेत ब्लॉक के भुजान, बोहरा गाव, मलौना, ज्याड़ी आदि गावों में लोग पेयजल के लिए जूझ रहे हैं। प्रातीय नगर उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेश उपाध्यक्ष महिपाल सिंह बिष्ट, मदन सिंह, पान सिंह आदि मौजूद रहे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021