जागरण संवाददाता, बागेश्वर: भारी बारिश से जिले के विभिन्न स्थानों में मकान टूटने से 14 परिवार विस्थापितों की जिदगी जीने के लिए मजबूर हैं। प्रभावित परिवार टेंट, पंचायतघर व अन्य सुरक्षित जगहों पर रहने को मजबूर हैं। प्रशासन ने कुछ परिवारों को मुआवजा दे दिया हैं। जिले में भारी बारिश का दौर जारी हैं। पिछले तीन से चार दिनों में बारिश से कांडा में नौ, कपकोट में दो, बागेश्वर एक, गरुड़ एक व एक काफलीगैर में एक मकान क्षतिग्रस्त हो गया हैं। मकान क्षतिग्रस्त होने से 14 परिवार के करीब 52 लोग विस्थापित की जिदगी व्यतीत कर रहे हैं। यह परिवार अपने निकट के पंचायतघरों व रिश्तेदारों के यहां रहने को मजबूर हैं। प्रशासन ने गरुड़ व कपकोट के आपदा प्रभावितों को मुआवजा दे दिया हैं, लेकिन अभी भी वह दूसरे जगहों पर ही रह रहे है। प्रशासन इन आपदा प्रभावितों को टेंट व अन्य राहत सामग्री दे रहा हैं। आपदा प्रबंधन अधिकारी शिखा सुयाल ने बताया कि फिलहाल स्थिति नियंत्रण में है। किसी प्रकार की बड़ी प्राकृतिक आपदा नही हैं। स्थिति पर लगातार नजर बनाए हुए हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप