संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा: नवजात कन्या को सड़क किनारे छोड़ने के अमानवीय कृत्य के लिए दोषियों की तलाश में पुलिस जुट गई है। पुलिस ने महिला पुलिस र्किमयों की टीम गठित कर जांच तेज कर दी हैं। वहीं इस मामले में अज्ञात के खिलाफ मुकद्दमा भी दर्ज कर लिया है।

पुलिस इस मामले में हर दृष्टि से नजर रखे हुए है। पुलिस को इस मामले में अभी कोई खास सफलता नहीं मिली है। लेकिन इस मामले के दोषियों तक पहुंचने के लिए वह अलग अलग टीम बनाकर काम करने में जुट गई है। महिला व पुरुष कर्मी क्षेत्र में जाकर लोगों से पूछताछ कर नब्ज टटोल रही है। धारानौला मार्ग में घरों व सार्वजनिक स्थानों में लगे सभी सीसीटीवी कैमरों को देखा जा रहा है। मामले की तह तक पहुंचने के लिए अनुभवी पुलिस र्किमयों को भी लगा दिया गया है। प्रभारी कोतवाल अशोक कांडपाल ने बताया कि इस मामले में तल्ला दन्या निवासी हेम चंद्र भट्ट ने अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट भी दर्ज करा दी है। एसएसपी पीएन मीणा ने मामले की गंभीरता को देखते हुए सभी आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। ज्ञात हो की विगत 20 नवंबर की रात राजपुरा वार्ड से होकर गुजर रही धारानौला सड़क किनारे बच्ची के रोने की आवाज सुनकर बाइक सवार युवकों ने उसे आवारा कुत्तों से छुड़वाकर था और धारानौला चौकी की मदद से उसे बेस अस्पताल पहुंचाया। प्राथमिक उपचार के बाद बच्ची को सुशीला तिवारी हल्द्वानी भेज दिया गया। जहां पर उसका उपचार चल रहा है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस