मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा : यहां जेल रोड पर नक्शे के विपरीत बन रहे एक बहुमंजिला भवन को प्रशासन ने सीज कर दिया है। बताया जा रहा है कि भवन जिला विकास प्राधिकरण के नियमों के विपरीत बनाया जा रहा था।

शुक्रवार को जिलाधिकारी नितिन भदौरिया किसी कार्य से जेल रोड होते हुए कहीं जा रहे थे। अचानक उनकी नजर बहुमंजिले भवन पर पड़ी तो उन्होंने एसडीएम सीमा विश्वकर्मा को भवन निर्माण की जांच के निर्देश दिए। मौके पर पहुंची एसडीएम ने भवन के नक्शों का निरीक्षण किया तो पता चला कि भवन का निर्माण मानकों के बिल्कुल विपरीत किया जा रहा था। जिस पर उपजिलाधिकारी ने निर्माणाधीन भवन को सीज कर दिया। बताया जा रहा है यह भवन करीब छह मंजिला बन रहा था। जिसमें मानकों की खुलकर धज्जियां उड़ाई जा रही थी। एसडीएम विश्वकर्मा ने कहा है कि निर्माण कार्यो में मानकों की अनदेखी को किसी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

--------- --इंसेट

प्राधिकरण को दी गई थी गलत जानकारी

अल्मोड़ा: जेल रोड पर निर्माणाधीन भवन के लिए प्राधिकरण को जो जानकारी दी गई थी, उसके बिल्कुल विपरीत बनाया जा रहा था। एसडीएम विश्वकर्मा ने बताया कि भवन निर्माण के लिए दो नक्शे पास कराए गए थे। जिनमें तीन-तीन मंजिले दो भवनों का निर्माण किया जाना था। लेकिन निर्माण स्थल पर तीन की जगह छह मंजिला भवन बनाया जा रहा था।

----------------- आज तक नहीं गई प्रशासन की नजर

अल्मोड़ा : जेल रोड पर बन रहा भवन तीन साझीदारों का है। बताया जा रहा कि आनंद सिंह, पूरन सिंह और सलीम नाम के व्यक्ति इस भवन का निर्माण करा रहे थे। लेकिन कई दिनों के निर्माण कार्य के बाद भी प्रशासन की नजर इस भवन पर नहीं पड़ी। शुक्रवार को अगर जिलाधिकारी इस मार्ग से नहीं गुजरते तो भवन निर्माण में मानकों की धज्जियां उड़ाने का यह मामला सामने नहीं आता।

-------

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप