संस, अल्मोड़ा : एतिहासिक नंदा देवी मंदिर प्रागण में में कुमाऊं की सबसे पुरानी रामलीला का महासंकट के मद्देनजर नए स्वरूप मंचन किया गया। यहा 10 दिन का मंचन तीन दिन में किया जा रहा। ढाई ढाई घटे के लघु मंचन में रामलीला के बीस से ज्यादा प्रसंगों का भावपूर्ण प्रस्तुति ने समा बाधा।

रामलीला मंचन के तहत बीती शुक्त्रवार मध्यरात्रि दशरथ कैकई संवाद से लंका दहन तक के प्रसंगों का मंचन किया गया। इसमें सूर्पनखा नाशिका भेदन, खर दूषण बध, श्रीराम हनुमान प्रसंग, श्रीराम सुग्रीव मित्रता, बाली बध, हनुमान सीता संवाद, रावण सीता संवाद, हनुमान का अशोक वाटिका में पहुंचना। हनुमान का रावण से सामना फिर लंका दहन आदि मंचन सराहनीय रहे। हर्ष जोशी ने श्रीराम, अजय जोशी लक्ष्मण, पीहू जोशी सीता, दशरथ गणेश मेर, हरि विनोद साह रावण, कैकई पुष्प रौतेला, हनुमान कुलदीप मेर, दिव्याशु जोशी खर, पंकज रावत व हर्ष कुमार ने सूर्पनखा के पात्र को निभाया। इस दौरान आयोजक प्रकाश पाडेय, अतुल वर्मा, महेंद्र बिष्ट, राजकुमार बिष्ट, संजय साह, शशिमोहन पाडे, अमित बुधौड़ी, कुलदीप मेर, अर्जुन बिष्ट आदि मौजूद रहे।

========

अंगद रावण संवाद रहा खास आकर्षण

फोटो : 24 एएलएम पी 7

अल्मोड़ा : नगर के कर्नाटकखोला में श्री भुवनेश्वर महादेव रामलीला कमेटी के तत्वावधान में विभिन्न प्रसंगों का मंचन किया गया। विभीषण का लंका से निष्कासन, रामेश्वरम प्रसंग, अतिकाय वध, रावण मंदोदरी संवाद के साथ ही अंगद रावण संवाद खास आकर्षण रहा। बिट्टू कर्नाटक ने रावण व मनीष तिवारी ने अंगद के पात्र को बखूबी जीया। मुख्य अतिथि प्रतिष्ठित व्यवसायी गिरीश चंद्र पाडे को कमेटी अध्यक्ष देवेंद्रप्रसाद कर्नाटक व उपाध्यक्ष डा. करन कर्नाटक ने सम्मानित किया। राम की पात्र दिव्या पाटनी, लक्ष्मण शगुन त्यागी, हनुमान अनिल रावत, अतिकाय गोकुल सिंह, विभीषण जितेंद्र कांडपाल, अकंपन विपिन चंद्र जोशी आदि ने सुंदर अभिनय किया। इस मौके पर डा.गोविंद सिंह रावत, देवेंद्र प्रसाद पांडे, डा.गिरीश चंद्र जोशी, एमसी कांडपाल, मंगल सिंह बिष्ट, दिनेश मठपाल, अमर बोरा, अखिलेश सिंह थापा, प्रकाश मेहता, हेमंत जोशी, प्रकाश मेहता, दीपक मेहता आदि मौजूद रहे।

===

===

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस