संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा : सांस्कृतिक नगरी अल्मोड़ा के लिए मंगलवार का दिन खास रहा। कारण था यहां ब्राइट एंड कार्नर स्थित रामकृष्ण कुटीर में युग पुरूष स्वामी विवेकानंद की मूर्ति का लोकार्पण समारोह। इस मौके पर जहां वैदिक मंत्रों की गूंज रही। वहीं स्कूली बच्चों ने भी सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत कर कार्यक्रम को और भव्य बना दिया।

नगर पालिका परिषद तथा रामकृष्ण कुटीर के संयुक्त तत्वावधान में रामकृष्ण कुटीर परिसर में स्वामी विवेकानंद की मूर्ति का लोकार्पण मंगलवार को मुख्य अतिथि विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चौहान ने किया। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद का अल्मोड़ा से गहरा नाता रहा। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुसार 50 लाख में से अवशेष 40 लाख रुपये भी अवमुक्त हो चुके हैं। जिसका उपयोग अब यहां विवेकानंद बाल वाटिका पार्क आदि बनाने के उपयोग में लाया जाएगा। पालिकाध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी ने स्वामी विवेकानंद के व्यक्तित्व व कृतित्व पर चर्चा की। उन्होंने बताया कि स्वामी विवेकानंद की मूर्ति की स्थापना के लिए प्रयास वर्ष 1997 से शुरू हुआ। जो आज स्वामी विवेकानंद की प्रेरणा से साकार हो गया है। इस मौके पर स्वामी जी के अल्मोड़ा आगमन के दौरान जिन परिवारों के लोगों से उनका जुड़ाव रहा, उन परिवारों के वंशजों को भी शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया। इस मौके पर आर्य कन्या इंटर कालेज तथा राजकीय इंटर कालेज लोधिया के छात्र-छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। कार्यक्रम का संचालन प्रो. दिवा भट्ट ने किया। इस मौके पर रामकृष्ण कुटीर के अध्यक्ष स्वामी ध्रुवेशानंद, हरिकृष्ण साह, बलभद्रानंद, पूर्व विधायक कैलाश शर्मा, एसएसपी पीएन मीणा, शांति कुमार घोष, स्वामी नित्य सिद्धानंद, स्वामी नरसिंहानंद, स्वामी इष्टदेवानंद, पूर्व निदेशक डॉ. जेसी भट्ट, श्याम सुंदर प्रसाद, डॉ. लक्ष्मीकांत, प्रो. हामिद, हेम चंद्र तिवारी, जगमोहन बिष्ट, डॉ. जेसी दुर्गापाल, जंगबहादुर थापा, आनंद सिंह बगड्वाल, आनंद सिंह ऐरी, प्रताप सत्याल, अख्तर हुसैन, मोतीलाल वर्मा, पूरन तिवारी,अजय वर्मा, मोहन सिंह रौतेला, अरूण पंत, मनीष जोशी, दया कृष्ण कांडपाल, चंद्र कांत जोशी, ग्रामीण निर्माण विभाग के अधिशासी अभियंता समेत पालिका के अनेक सदस्य मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप