अल्मोड़ा, जेएनएन: पर्वतीय क्षेत्रों के स्कूलों को अब बिजली आपूíत न होने से होने वाली समस्या से निजात मिल सकेगी। समग्र शिक्षा उत्तराखंड की स्वीकृति के बाद पहले चरण में अल्मोड़ा जिले के सात स्कूलों में 21 किलोवॉट के सोलर प्लांट स्थापित कर लिए गए हैं। इन प्लांटों के लगने के बाद जहां स्कूलों को बिजली खर्च से निजात मिलेगी, वहीं इन प्लांटों से पैदा होने वाली बिजली को ऊर्जा निगम को बेचा भी जा सकेगा। बिजली न होने की दशा में इन स्कूलों में शिक्षण कार्य भी प्रभावित नहीं होगा।

पर्वतीय क्षेत्रों में बिजली के खर्च को कम करने और विद्युत आपूíत अक्सर बाधित रहने की समस्या को देखते हुए समग्र शिक्षा अभियान ने जिले के सात विद्यालयों को चयनित किया। जिसके बाद सभी विद्यालयों ने प्रति स्कूल 2.25 लाख रुपये विभाग के पास जमा कराए। अक्षय ऊर्जा विभाग ने एक दो विद्यालयों को छोड़ अन्य में सोलर प्लांट के उपकरण स्थापित भी कर दिए हैं। जबकि शेष में कार्य जारी है। शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इन प्लांटों के लगने के बाद दूरस्थ क्षेत्र के विद्यालयों को जहां 24 घंटे बिजली आपूíत संभव हो सकेगी। वहीं प्रयोग में लाने के बाद शेष बिजली को ऊर्जा निगम को बेचा भी जा सकेगा।

---------------------

किन स्कूलों में लगे सोलर प्लांट

स्कूल - ब्लॉक का नाम

जीआइसी नौगांव - ताड़ीखेत

राजकीय हाईस्कूल गोदी व महतगांव - चौखुटिया

राजकीय हाईस्कूल, गल्ली - धौलादेवी

राजकीय हाईस्कूल चौरा कलेत - हवालबाग

राजकीय हाईस्कूल झालडूंगरा - लमगड़ा

राजकीय हाईस्कूल, कानेखलपाटी - सल्ट

::::::::::वर्जन--

समग्र शिक्षा उत्तराखंड की स्वीकृति के बाद जिले के सात स्कूलों में ऑफग्रिड सोलर प्लांट लगाए गए हैं। जिनसे वहां बिजली की समस्या के कारण अब किसी भी प्रकार का शिक्षण कार्य प्रभावित नहीं होगा। अन्य स्कूलों को भी इस योजना से जोड़ा जा सके। इसके लिए प्रयास किए जाएंगे।

-एचबी चंद, मुख्य शिक्षा अधिकारी, अल्मोड़ा

Posted By: Jagran

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस