संवाद सहयोगी, रानीखेत: कोसी घाटी में रातीघाट स्थित भारतीय सेना के मैदान में 5-उत्तराखंड नेवल यूनिट एनसीसी के दस दिवसीय शिविर में कैडेट्स को राइफल चलाने का विशेष प्रशिक्षण दिया गया। वहीं पानी के जहाज निर्माण, तकनीकी पहलुओं के साथ ड्रिल आदि की गहन जानकारी भी दी गई।

अल्मोड़ा हल्द्वानी हाईवे पर सैन्य मैदान में सोमवार को भी 5-यूके नेवल यूनिट का शिविर जारी रहा। इसमें डीएसबी परिसर नैनीताल के सीनियर डिवीजन बालक 11, सीनियर बालिका 39 व डीएवी कॉलेज देहरादून के 22, भारतीय शहीद सैनिक नैनीताल 17, सीआरएसटी 11, जीआईसी 14, रामनगर के 31, रुड़की 46, हल्द्वानी से नौ समेत करीब 220 कैडेट्स हिस्सा ले रहे हैं। इसमें कैडेट्स को नौसेना के विषय में विस्तार से जानकारी दी जा रही है। सोमवार को ड्रिल, राइफल संचालन के साथ अनुशासन, एकता का पाठ भी पढ़ाया गया। बाद में नौसेना के अधिकारी तथा कैडेट्स हाईवे पर रामगाढ़ जलविद्युत परियोजना देखने पहुंचे। यहां उन्होंने विद्युत उत्पादन की तकनीकी जानकारी जुटाई। इस मौके पर सब लेफ्टिनेंट रितेश साह, शैलेंद्र चौधरी गोविंद बोरा, सीपीओ एके सिंह, दिनेश कुमार,प्रवीण असवाल, केपीएस चौहान, शिवकुमार, वसीम अहमद आदि मौजूद रहे।

================

35 यूनिट रक्तदान किया

शिविर के दौरान कैडेट्स ने कठिन प्रशिक्षण के साथ रक्तदान भी किया। इसमें नौसेना के अधिकारियों ने भी महादान किया। दिन भर में कैडेट्स ने करीब 35 यूनिट रक्त दिया। इस दौरान बीडी पाडे अस्पताल नैनीताल के डॉ. प्रियाशु श्रीवास्तव, रजनीश मिश्रा, कमल बिष्ट, राशि पंत, सरस्वती खेतवाल, कमला कुंजवाल, आदि ने सहयोग दिया।

Posted By: Jagran