संवाद सूत्र, ताड़ीखेत (रानीखेत) : विकासखंड के सुदूर पाली नदुली में पांच दिनी कुमाऊंनी रामलीला मंचन अंतिम दौर में पहुंच गया है। मंचन के चौथे दिन राम सुग्रीव संवाद के बाद अंगद को दूत बनाकर लंका भेजना तथा रावण अंगद संवाद का मंचन किया गया। दूरदराज के गांवों से रामलीला मंचन देखने लोगों का हुजूम उमड़ा।

ब्लॉक के पाली नदुली में रामलीला मंचन के चौथे दिन लंका दहन के बाद हनुमान का राम दल में लौटना, रावण को समझाने के लिए अंगद को दूत बनाकर भेजने तथा रावण दरबार में अंगद रावण संवाद का मंचन किया गया। रावण के पात्र (पंचम रौतेला)- 'होश में बूला बानरा तेरि निहुणि किलै अरै, मी काव व काव छू रे तहणि खालि खिलसि हैरे..' तथा अंगद (गिरीश पपनै)- 'ओ झूठा बेमान तै शरम नि आणि, रामा भगवान छि दूनि सब जाणि..' आदि गायन व अभियन से खूब वाहवाही लूटी।

इससे पूर्व मुख्य अतिथि जीएम ओएमपीसी एलएम पांडे ने भगवान राम के आदशरें को जीवन में उतार समाज सेवा का आह्वान किया। उन्होंने लोक परंपरा व बोली को बचाने के लिए सिलोर सांस्कृतिक समिति के प्रयासों की सराहना की। समिति संयोजक गोपाल रावत के अनुसार आज राम राज्याभिषेक के साथ रामलीला का पारायण होगा। रामलीला मंचन में प्रधान हीरा सिंह रावत, चंदन सिंह रावत, हरीश रावत, हरीश सिंह, सुरेंद्र सिंह, मान सिंह व गोविंद सिंह सहयोग कर रहे हैं।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस