संवाद सहयोगी, रानीखेत : एसओजी ने अंतरराज्यीय वाहन चोर गिरोह का बड़ा खुलासा किया है। कोतवाली की नाक के नीचे नगर के सरना गार्डन से दिल्ली से चोरी चार कार व छह स्कूटी बरामद कर गिरोह के सरगना को गिरफ्तार किया है। गैंग का मास्टर माइंड हत्थे चढ़े आरोपित का दिल्ली निवासी आरोपित का बहनोई है। देश की राजधानी के विभिन्न थाना क्षेत्रों में वाहन चोरी के मुकदमे भी दर्ज हैं।

एसओजी प्रभारी हेमेंद्र चौधरी के नेतृत्व में पर्यटन नगरी में मारे गए छापों के दौरान टीम को बड़ी सफलता हाथ लगी है। नगर के सरना गार्डन से चार कारें व छह स्कूटी बरामद कर ली गई। मामला तब खुला जब दबिश को पहुंची एसओजी व पुलिस टीम ने संदेह पर मून लाइट ड्राइक्लीनर अतिकुर्रहमान पुत्र रहमत अली निवासी सरना गार्डन, धोबी मोहल्ला के पास से आइटेन कार डीएल 8सीटी 5178 के सिलसिले में पूछताछ शुरु की। सख्ती पर आरोपित टूट गया। उसने बताया कि उसके घर के बाहर चोरी की तीन कारें व छह स्कूटी खड़ी हैं, जिनका सौदा कर दिया गया है। हालाकि इन्हें खरीदारों के हवाले नहीं किया गया था। बरामद वाहनों की कीमत करीब 19 लाख रुपये आंकी गई है।

==========

बहनोई है बड़ा सप्लायर, रामपुर से अतिकुर्रहमान लाता था

पहाड़ में अंतरराज्यीय गिरोह चलाने वाले आरोपित अतिकुर्रहमान का कबीर नगर शाहदरा (दिल्ली) निवासी बहनोई भी ड्राई क्लीनर है। मगर वाहन चोर गिरोह का मास्टर माइंड भी। वही अतिकुर्रहमान को दिल्ली से गाड़िया चोरी कर रामपुर (उत्तर प्रदेश) तक लाता था। वहा से अतिकुर्रहमान बड़ी सफाई से वाहनों को लेकर रानीखेत में सरना गार्डन में खड़ी कर देता था। एसएसपी पी रेणुका देवी ने कहा कि उत्तराखंड गठन के बाद पर्वतीय जिलों में वाहन चोरी का यह सबसे बड़ा खुलासा है। सरगना अतिकुर्रहमान के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कोर्ट के आदेश पर जेल भेज दिया गया।

==========

चोरी के ये वाहन बरामद

= कार एचआर 26 डीबी 0676, एचआर 26बीएस4600, यूपी 14 सीक्यू- 4061 व डीएल 8सीटी 5178

==========

= स्कूटी डीएल 12एसडी-1890, डीएल 5एस बीजी 2811, डीएल 2एसक्यू 8719, डीएल एआर-2380, डीएल 13एसवी-1777, डीएल 5एसएटी-9159 (इन सभी वाहनों की चोरी की रिपोर्ट दिल्ली के थाना जामा मस्जिद, सकरपुर, उत्तरी दिल्ली, कृष्णा नगर, सदर दिल्ली व फर्श बाजार सूरजमल विहार थाने में मुकदमा दर्ज है)

=============

हो सकती है और वाहनों की बरामदगी

रानीखेत : अंतरराज्यीय ऑटो लिफ्टर गैंग के सरगना की गिरफ्तारी के बाद नगर क्षेत्र से कुछ और चोरी के वाहन बरामदगी हो सकती है। एसएसपी के निर्देश पर एसआइ ताड़ीखेत सुरेंद्र सिंह रिंग्वाल को पूरे मामले की जांच सौंप रिपोर्ट देने के निर्देश दिए गए हैं।

=============

आइजी व एसएसपी ने की इनाम की घोषणा

पहाड़ में बड़े वाहन चोर गिरोह का खुलासा करने वाले एसओजी प्रभारी हेमेंद्र चौधरी, संदीप सिंह, दिनेश नगरकोटी समेत पूरी टीम को आइजी व एसएसपी की ओर से इनाम की घोषणा की गई है।

=============

'वाहन चोरी का उत्तराखंड गठन के बाद कुमाऊं व गढ़वाल के पर्वतीय राज्यों में पहला बड़ा मामला है। इसमें रानीखेत, हल्द्वानी, रामपुर व दिल्ली के और कितने लोग शामिल हैं, इसका पता लगाया जा रहा है। एसओजी की टीम को बधाई कि अंतरराज्यीय ऑटो लिफ्टर गैंग का पर्दाफाश किया। आइजी कुमाऊं ने टीम के लिए इनाम की घोषणा की है।

- पी रेणुका देवी, एसएसपी अल्मोड़ा'

Posted By: Jagran