जागरण संवाददाता, अल्मोड़ा : केंद्रीय नेतृत्व के निर्देश पर महंगाई व पेट्रोल-डीजल की कीमतों में वृद्धि के खिलाफ कांग्रेस कार्यकर्ताओं व पदाधिकारियों की तरफ से भारत बंद के आह्वान का व्यापक असर दिखा। शहर से लेकर गांव तक बाजार व स्कूल बंद रहे। शहर में सुबह 6 बजे से ही कांग्रेस कार्यकर्ता व पदाधिकारी पूर्व विधायक मनोज तिवारी के नेतृत्व में घरों से बाहर निकले। सभी ने भारत बंद में व्यापारियों का सहयोग मांगा। इसके बाद बाजार में व्यापारियों ने खुद ही दुकानें बंद कर दीं। वहीं स्कूल सहित सभी पेट्रोल पंप भी बंद रहे।

कांग्रेस की तरफ से भारत बंद का असर पूरे शहर व ग्रामीण क्षेत्र में व्यापक असर दिखाई दिया। सुबह स्कूल खुले तो जरूर लेकिन बाद में कांग्रेस के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं के कहने पर सभी प्रबंधकों ने स्कूल बंद कर दिए। यही हाल बैंकों व पेट्रोल पंप का भी रहा। सुबह 11 बजे तक पूरे शहर में सन्नाटा छाया रहा। हालांकि यातायात पूर्व की तरह ही चला। इसका असर परिवहन निगम की बसों में देखने को मिला। शहर में जिलाधक्ष कांग्रेस पीतांबर पांडेय, महिला जिलाध्यक्ष लता तिवारी, राधा बिष्ट, गीता मेहरा, सिकंदर पवार, इंटक के जिलाध्यक्ष दीपक मेहता, पारितोष जोशी, भीमा पवार, केवल सती, पंकज वर्मा, हिमांशु कांडपाल, नगर अध्यक्ष पूरन रौतेला, दीप डांगी, दीपेश चंद्र जोशी, संजय दुर्गापाल, राजीव कर्नाटक, अमित जोशी, रमेशचंद्र कांडपाल, देवेंद्र जोशी, अख्तर हुसैन, पीसी जोशी, किरन साह ने पूरे शहर में घूम-घूमकर प्रतिष्ठान व स्कूल बंद कराकर सहयोग मांगा।

.........

सोमेश्वर, पनुवानौला में बंद, धौलछीना में खुला रहा बाजार

भारत बंद का असर ग्रामीण क्षेत्रों में भी दिखाई दिया। जिसमें सोमेश्वर व पनवानौला में जहां बाजार बंद रहे। जिसके बाद आम लोगों को रोमर्रा की वस्तुओं के लिए भटकना पड़ा। सोमेश्वर में कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने केंद्र सरकार का पुतला फूंककर विरोध जताया। सभी ने एक स्वर में मांग की कि केंद्र सरकार जल्द इन बढ़ी कीमतों को वापस ले। अन्यथा कांग्रेस सड़कों पर विरोध प्रदर्शन करेगी। पनवानौला में कांग्रेस कार्यकर्ता राजेंद्र बनौला, जगदीश गैड़ा, दीपक गैड़ा, कुंदन बिष्ट, पूरन पांडेय,बहादुर राम मौजूद रहे। सोमेश्वर चौराहे पर पुतला दहन करने वालों में पूर्व राज्यमंत्री बाराकोटी, ब्लाक अध्यक्ष किशोर नयाल, दिनेश नेगी, लाल ¨सह बजेठा, हरीश लाल, सुरेश बोरा, दीवान नेगी, संतोष कुमार, प्रकाश खाती, प्रकाश बिष्ट, छात्रसंघ अध्यक्ष ललित कुमार, संजय बोरा, राजेंद्र ¨सह, पूरन सनवाल, चंद्रशेखर, पवन भाकुनी आदि मौजूद थे।

...........

हेलो, हमारा भी कार्यालय बंद करा दो

भारत बंद के दौरान अधिकांश सरकारी दफ्तर कांग्रेसियों ने बंद करा दिए। वहीं जहां कांग्रेस कार्यकर्ता नहीं पहुंच पाए वहां से कर्मचारियों ने फोन करके उनसे कार्यालय बंद कराने की अपील की। इसके चलते सरकारी कर्मचारी भी कार्यालय बंद करके घरों को चले गए। जब इन कर्मचारियों से पूछा गया तो इनका कहना था कि हमारे यहां कोई भी बंद करवाने नहीं आया। फोन करके कांग्रेस कार्यकर्ताओं को बुलाया कि हमारा कार्यालय बंद करा दो।

..........

कुंजवाल व मनोज ने जताया आभार

भारत बंद का व्यापक असर पर दिखाई देने पर पूर्व विधानसभा अध्यक्ष व विधायक गो¨वद ¨सह कुंजवाल व पूर्व विधायक मनोज तिवारी ने सभी व्यापारियों, स्कूल प्रबंधकों का आभार प्रकट किया। दोनों का कहना था कि भारत बंद को सफल बनाने में सभी का खुद ही सहयोग मिला। उनके आहवाहन पर बंद यह साबित करता है कि आम जनता से लेकर व्यापारी, युवा वर्ग केंद्र सरकार की गलत नीतियों से सभी परेशान हैं। कांग्रेस इन नीतियों के खिलाफ लगातार विरोध प्रदर्शन करेगी।

Posted By: Jagran