संवाद सहयोगी, चौखुटिया: तल्ला गेवाड़ सांस्कृतिक मंच के तत्वावधान में यहां मासी के रामलीला मैदान में दिन की रामलीला की खूब धूम मची है। गांव गांव से ग्रामीण रामलीला देखने उमड़ रहे हैं, जो देर सायं तक पात्रों के अभिनय का आनंद ले रहे हैं। गुरुवार को आठवें दिन रामलीला अशोक वाटिका से प्रारंभ होकर विभीषण मिलन तक चली। इस दौरान लंका दहन का दृश्य काफी आकर्षक रहा।

आठवें दिन की लीला का उद्घाटन विधायक महेश नेगी ने रिबन काटकर किया। उन्होंने राम के आदर्शो को अपने व्यवहारिक जीवन में उतारने का आह्वान किया एवं भगवान राम की परिकल्पना के अनुसार सभ्य, आदर्श व सुसंस्कारित समाज निर्माण की आवश्यकता पर जोर दिया। मंच पर रामलीला की शुरूआत कोरस की बालिकाओं व राधा-कृष्ण की बेहतरीन गीत-नृत्य प्रस्तुति के साथ हुई। इसके साथ ही आशोक वाटिका में हनुमान के पहुंचने तथा मेघनाथ द्वारा उन्हें बंधक बनाने व रावण के साथ हनुमान संवाद के दृश्यों का पात्रों ने जीवंत अभिनय किया।

दृश्य में हनुमान सीता को राम का संदेश देते हैं, इसके बाद मेघनाथ व हनुमान के बीच युद्ध होता है। बाद में विभीषण की सलाह पर हनुमान अपनी पूंछ से रावण की सोने की लंका जला देते हैं। हनुमान का रोल उमेश सती, मेघनाथ भूपेंद्र कुमार, रावण बृजलाल वर्मा, राम दीपिका, लक्ष्मण सरिता व सीता का कविता फुलोरिया ने किया। मंच संचालन चंद्र प्रकाश व गोपाल मासीवाल ने किया। हारमोनियम पर त्रिलोक राम ने संगत दी। आखिर में महेश लाल वर्मा ने दर्शकों का आभार व्यक्त किया।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस