संवाद सहयोगी, दन्यां: सरकारी विद्यालयों में निरंतर घट रही छात्र संख्या हम सभी के लिए चिंता की बात है। विद्यालयों का शैक्षिक स्तर कैसे उन्नत होगा इस विषय पर शिक्षकों के साथ साथ अभिभावकों और हम जन प्रतिनिधियों को भी मनन करने की आज आवश्यकता है।

यह बात पूर्व विधानसभा अध्यक्ष व जागेश्वर क्षेत्र के विधायक गोविंद सिंह कुंजवाल ने राजकीय इंटर काले दन्यां में ब्लाक स्तरीय संस्कृत प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि कही। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में अधिकांश अभिभावक सरकारी स्कूलों में अपने पाल्यों को भेजने में कतरा रहे हैं। उन्होंने कहा कि संसाधनों के अभाव और विषम परिस्थितियों के बावजूद अधिकांश शिक्षकों द्वारा पूर्ण मनोयोग से कार्य किये जाने के बावजूद अपेक्षित परिणाम और धारणाएं नहीं बदल रही हैं। उन्होंने अभिभावकों, अध्ययनरत छात्रों और कार्यरत शिक्षकों का आह्वान करते हुए इस बात पर मनन करने की अपील की। कुंजवाल ने जीआईसी दन्यां में सांस्कृतिक कार्यो के संचालन के लिए भव्य मंच बनाने की घोषणा की और दो लाख रूपये प्रदान करने की घोषणा भी की। इस अवसर पर डीसीबी के पूर्व अध्यक्ष दीवान सिंह भैसोड़ा, प्रशांत भैसोड़ा, जागेश्वर मंदिर समिति के उपाध्यक्ष गोविंद गोपाल, ब्लाक अध्यक्ष दीवान सत्वाल, पूरन बिष्ट, कमल सिंह सहित अनेक लोगों ने विचार व्यक्त किये। संचालन आनंद बल्लभ पाण्डेय ने किया।

Posted By: Jagran