संसू, मानिला (रानीखेत) : मतदान प्रक्रिया निपटाने के लिए चुनाव आयोग व प्रशासन के दावों की पोल तब खुली जब सल्ट ब्लॉक के पुरियचौड़ा मतदान केंद्र में मतदान कर्मियों को पानी व शौचालय के लिए जूझना पड़ा। मतदान ड्यूटी पर आए कर्मियों के साथ साथ ग्रामीणों को भी काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा।

सल्ट ब्लॉक के पुरियाचौड़ा मतदान केंद्र पर पहुंचे कर्मचारियों ने चुनाव आयोग व प्रशासन पर मतदान केंद्र पर व्यवस्थाएं दुरुस्त न करने का आरोप लगाया। कहा पानी व शौचालय की व्यवस्था न होने पर उन्हें शौच आदि के लिए खेतों व गधेरों में जाना पड़ा। वही मानिला बरकिंडा पेयजल योजना से पानी की सप्लाई न होने से ग्रामीणों को भी खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। लोग पहले पानी की व्यवस्था में जुटे तब जाकर मतदान करने केंद्र पर आए। जिस कारण सुबह मतदान काफी धीमा रहा।

=============

प्रवासियों ने बिगाड़ा प्रत्याशियों का गणित

भिकियासैंण/मानिला : पंचायत चुनाव में मतदान को दिल्ली, हरियाणा, देहरादून, मेरठ व हरिद्वार से पहुंचे मतदाताओं ने ग्रामीण प्रत्याशियों को गणित ही बिगाड़ कर रख दिया। सूत्रों के अनुसार अधिकांश बूथों पर बाहर से आए मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया और मतदान के बाद अपने ठिकानों को लौट गए। कुछ लोगों का कहना है कि इन मतदाताओं के लिए प्रत्याशियों ने रहने, खाने आदि की बेहतर व्यवस्था की थी।

=============

दिव्यांग व बूढ़े मतदाता भी नहीं रहे पीछे

भिकियासैंण : गांव की सरकार चुनने के लिए बूढ़े व दिव्यांग मतदाता भी पीछे नहीं रहे। कोई प्रत्याशी अपने अपने वोटरों को पीठ पर तो कोई डोली के सहारे मतदान स्थल तक लाया।

===========

आपसी भिड़त में एक घंटे बाधित हुआ मतदान

मानिला : सल्ट ब्लॉक के मुनड़ा व घचकोट बूथ पर मतदान करने आए वोटर की पहचान को लेकर दो पक्ष आपस में भिड़ गए। जिस कारण करीब घंटा भर मतदान प्रक्रिया बाधित रही। पुलिस टीम ने पहुंच कर मामला शांत कराया तब जाकर मतदान शुरू हुआ।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप