संवाद सहयोगी, रानीखेत : छात्रसंघ चुनावों में बीएड के विद्यार्थियों से मतदान करवाए जाने से बवाल हो गया। अध्यक्ष पद की पराजित प्रत्याशी बबली बिष्ट ने समर्थकों के साथ कॉलेज प्रशासन पर चुनाव नियमावली का खुला उलंघन कर गाधी चौक पर प्रदर्शन किया। तीन घटे तक चले हाई वोल्टेज ड्रामे को नियंत्रित करने के लिए पुलिस के हल्का बल प्रयोग करने से स्थिति और विस्फोटक हो गई। बबली बिष्ट के आत्मदाह का प्रयास किए जाने से प्रशासन के हाथपाव फूल गए। संयुक्त मजिस्ट्रेट के हस्तक्षेप से विद्यार्थियों को महाविद्यालय ले जाया गया। जहा आक्रोशित समर्थकों ने संयुक्त मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंप मामले की निष्पक्ष जांच की मांग उठाई।

रानीखेत महाविद्यालय में चुनाव परिणामों की घोषणा होते ही बवाल खड़ा हो गया। महाविद्यालय प्रशासन के मनीष भैसोड़ा को विजयी घोषित करते ही विपक्षी प्रत्याशी बबली बिष्ट के समर्थक भड़क उठे। कॉलेज प्रशासन पर चुनाव नियमावली का उलंघन कर प्रत्याशी विशेष के पक्ष में बीएड के 70 विद्यार्थियों का वोट डलवाने का आरोप लगाया। यह भी कहा कि इन विद्यार्थियों के मतदान करने की उन्हें सूचना तक नहीं दी गई। बबली बिष्ट अपने समर्थकों के साथ नारेबाजी करती गाधी चौक पहुंच धरने पर बैठ गई और महाविद्यालय प्राचार्य, विभागाध्यक्ष बीएड संकाय व चुनाव प्रभारी के निलंबन की मांग उठाई।

==============

महाविद्यालय प्रशासन का फूंका पुतला

गुस्साए समर्थकों ने प्राचार्य डॉ. पीके पाठक, विभागाध्यक्ष बीएड संकाय सुनील जैन व चुनाव प्रभारी वाईसी सिंह पर पक्षपात व गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए उनके निष्कासन व चुनाव निरस्त करवाने की माग की। तीन घटे तक चले इस घटनाक्त्रम से मुख्यमार्ग पर जाम लग गया। प्रदर्शनकारियों ने महाविद्यालय प्रशासन का पुतला आग के हवाले किया। समझाने को पहुंचे सीओ वीर सिंह, कोतवाल नारायण सिंह आदि से भी तीखी बहस भी हुई।

=============

पुलिस के बल प्रयोग से भड़का आक्रोश, आत्मदाह का प्रयास

पुलिस के मनाने पर जब प्रदर्शनकारी नहीं माने तो पुलिस ने हलका बल प्रयोग किया। इससे गुस्साई अध्यक्ष पद की पराजित प्रत्याशी बबली ने आपा खो दिया और अपने ऊपर पेट्रोल छिड़क कर आत्मदाह का प्रयास किया। जिससे प्रशासन के हाथ पाव फूल गए। हालांकि कि मौजूद पुलिस कर्मियों ने प्रयास को नाकाम कर दिया। मौके पर पहुंचे संयुक्त मजिस्ट्रेट एनएस भंडारी ने गुस्साए विद्यार्थियों को समझाने का प्रयास कर समस्या का समाधान महाविद्यालय में करने का आश्वासन दिया। जिससे सभी विद्यार्थी महाविद्यालय पहुंचे।

===========

संयुक्त मजिस्ट्रेट को सौंपा ज्ञापन

संयुक्त मजिस्ट्रेट के महाविद्यालय पहुंचने पर महाविद्यालय प्रशासन नदारद मिला। बमुश्किल बीएड संकाय के सुनील जैन पहुंचे। उन्होंने मामले में कोई भी जानकारी होने से इंकार कर दिया। बाद में आक्रोशित समर्थकों ने संयुक्त मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंप मामले की जांच की मांग उठाई। ज्ञापन सौंपने वालों में निखिलेश बिष्ट, ललित दिगारी, कमल गिरि, नवनीत उपाध्याय, भुवन बिष्ट, हिमानी बिष्ट, अंजली बिष्ट, भावना बिष्ट्र प्रमोद अधिकारी व दीपक भंडारी शामिल रहे।

===============

'मामले की निष्पक्ष जांच की जाएगी। सभी के बयान दर्ज किए जाएंगे। दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। सप्ताह भर के अंदर मामले का निस्तारण कर दिया जाएगा।

-एनएस भंडारी, संयुक्त मजिस्ट्रेट'

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप