संवाद सहयोगी, स्याल्दे (रानीखेत) : डीएम नितिन सिंह भदौरिया ने साफ कहा, छोटी समस्याओं के लिए लोगों को जिला मुख्यालय के बेवजह चक्कर न कटवाएं। तहसील स्तर से ही त्वरित निदान के निर्देश देते हुए उन्होंने सप्ताह में शिकायतों के निपटारे की हिदायत दी। वहीं देघाट से स्याल्दे तक लाइन बिछाने व विद्युत आपूर्ति में गड़बड़ी की शिकायत पर जाच के निर्देश दिए।

तहसील दिवस में मंगलवार को कुल 109 शिकायतें व समस्याएं दर्ज की गई। ज्यादातर शिकायतें पेयजल विद्युत, लोनिवि, समाज कल्याण, स्वास्थ्य आदि से जुड़ी थी। डीएम ने विद्युत सबस्टेशन देघाट से आपूर्ति बाधित होने तथा देघाट से स्याल्दे तक लाइन बिछाने में गड़बड़ी की शिकायत पर एसडीएम की अध्यक्षता में कमेटी गठित कर जाच के निर्देश दिए। समैया-भरसौली पेयजल योजना पूर्ण होने के बावजूद जलापूर्ति न होने पर सीडीओ मयूर दीक्षित को जाच कर रिपोर्ट देने को कहा।

सीएचसी देघाट में एंटीवेनम इंजेक्शन न होने, पेंशन, व राशन न मिलने, आधार कार्ड से लिंक कराए जाने के बावजूद समस्या दूर न होने की शिकायत पर डीएम ने विभागाध्यक्षों को दो दिन के भीतर निस्तारण को कहा। जैनल-देघाट रोड की खराब गुणवत्ता व नालिया न बनाए जाने तथा सिमैया पत्थरखोला नहर का बजट मिलने के बावजूद निर्माण शुरू न होने की शिकायत पर डीएम ने पेंच कसे। कई मामलों का मौके पर ही निस्तारण भी किया।

============

अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति होगी

विभिन्न विद्यालयों में अध्यापकों की कमी के मुद्दे पर सीडीओ ने कहा 30सितंबर तक अतिथि शिक्षकों की नियुक्ति शुरू कर दी जाएगी।

==========

गंभीर हों अधिकारी : विधायक

विधायक सुरेंद्र सिंह जीना ने कहा, दुर्गम क्षेत्रों की समस्याओं का निस्तारण करना ही राज्य सरकार का लक्ष्य है। सरकार जनता के द्वार थीम पर तहसील दिवस, बहुउददेशीय शिविर आदि लगा रही है। अधिकारियों को समस्याओं के प्रति गंभीर होना चाहिए। इस मौके पर प्रमुख आनंदी कत्यूरा, च्येष्ठ प्रमुख गोपाल रावत, एसडीएम गौरव चटवाल, तहसीलदार प्रताप राम, जिपं सदस्य हंसा नेगी, सीडीओ मयूर दिक्षित,गणेश जोशी, डीएस रौतेला, केएल वर्मा, रघुनाथ बंगारी,हृदयेश मेहरा, पूरन सिंह, राकेश बिष्ट, अर्जन बंगारी, आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran