जागरण संवाददाता, अल्मोड़ा : कांग्रेस की तरफ से महंगाई व पेट्रोल-डीजल में हो रही लगातार वृद्धि के खिलाफ सोमवार को भारत बंद करने के आहवाहन को तगड़ा झटका लगने वाला है। इसमें सहयोग की आस लगाए कांग्रेस को प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल ने बंद में सहयोग न करने का फैसला बैठक में लिया। पदाधिकारियों ने साफ कहा कि इस तरह के राजनीतिक बंद को उनका संगठन कतई समर्थन नहीं दे सकता। वहीं यह भी कहा कि व्यापारी चाहें तो स्वेच्छा से अपने प्रतिष्ठान बंद कर सकते हैं।

प्रांतीय उद्योग व्यापार प्रतिनिधि मंडल के बैनर तले एकत्र हुए व्यापारियों ने बैठक का आयोजन किया। इसमें जिलाध्यक्ष हरेंद्र वर्मा ने साफ कहा कि उनका संगठन गैर राजनीतिक और गैर जातीय संगठन है। वहीं संगठन की एक नियमावली है। जिसके अनुसार इस तरह के आयोजनों को लेकर जिलाध्यक्ष को ही निर्णय लेना होता है। जिसके बाद यह सर्वसम्मति से तय किया गया है कि सोमवार को कांग्रेस की तरफ से किए जाने वाले भारत बंद का संगठन समर्थन नहीं दे सकता। अध्यक्ष ने कहा कि जो व्यापारी इसमें स्वेच्छा से अपने प्रतिष्ठान बंद करना चाहते हैं तो संगठन को इसमें कोई आपत्ति नहीं होगी। इतना ही नहीं अध्यक्ष ने कहा कि बंद के दौरान यदि कांग्रेस की तरफ से व्यापारियों के प्रतिष्ठान जबरन बंद कराने या अभद्रता की घटना सामने आएगी तो व्यापार प्रतिनिधि मंडल के पदाधिकारी इसका पुरजोर विरोध करेंगे। बैठक में नगर अध्यक्ष व्यापार मंडल भैरव गोस्वामी, अनूप गुप्ता, जिला सचिव मनीष जोशी, नगर सचिव मनोज ¨सह पवार, नवीन वर्मा, कमल गुप्ता, संजीव गुप्ता, दिनेशचंद्र मठपाल, दीपक वर्मा, वकुल साह, दीपेश जोशी, दीपक साह आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran