संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा : जिला विकास प्राधिकरण को समाप्त किए जाने की मांग को लेकर सर्वदलीय संघर्ष समिति ने मंगलवार से आंदोलन फिर शुरू कर दिया है। समिति ने गांधी पार्क में धरना-प्रदर्शन किया। कहा है कि जब तक विकास प्राधिकरण की व्यवस्था को वापस नहीं लिया जाता है, आंदोलन जारी रहेगा। इसके लिए चाहे कितना ही संघर्ष क्यों नहीं करना पड़े। स्पष्ट किया कि जनहितों की अनदेखी कतई बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

समिति के संयोजक पालिकाध्यक्ष प्रकाश जोशी के नेतृत्व में विभिन्न दलों के लोग धरने पर बैठे। इस मौके पर हुई सभा में वक्ताओं ने पर्वतीय क्षेत्र की विषम भौगोलिक परिस्थितियों के मद्देनजर विकास प्राधिकरण को अव्यवहारिक बताया। संयोजक प्रकाश जोशी ने कहा कि आठ माह पूर्व कोरोनासंकटकाल के कारण समिति ने धरने को स्थगित कर दिया। उनका कहना था कि समिति को विश्वास था कि इन महीनों में सरकार इस मसले को हल कर देगी। परंतु इतने समय बाद भी सरकार ने इस गंभीर मसले पर कुछ नहीं किया। इसलिए समिति आंदोलन को मजबूर हुई है। समिति के प्रवक्ता राजीव कर्नाटक ने कहा कि विकास प्राधिकरण से जनता काफी परेशान है।

धरना-प्रदर्शन में पूरन रौतेला, चंद्रमणी भट्ट, सचिन आर्या, आनंद सिंह बगड्वाल, हेम तिवारी, दीपांशु पांडे, अख्तर हुसैन, प्रताप सत्याल, चंद्रकांत जोशी, पीएस बोरा, राजू गिरी, सुनीता पांडे, महेश लाल वर्मा, भारत रत्‍‌न पांडे आदि मौजूद रहे।

-------------

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस