संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा : विगत दिनों हुई बर्फबारी और बारिश के बाद हवालबाग के रैलाकोट गांव में हुए भूस्खलन के बाद अब प्रभावित परिवारों ने पंचायत भवन व प्राइमरी स्कूल में शरण ली है। शुक्रवार को हवालबाग विकास खंड के ग्राम विकास अधिकारी समेत अन्य अधिकारियों ने गांव का निरीक्षण किया और ग्रामीणों को हरसंभव मदद का आश्वासन दिया।

बीते दिनों हुई बारिश और बर्फबारी के बाद रैलाकोट गांव में जबर्दस्त भूस्खलन हुआ था। जिस कारण गांव के आधा दर्जन परिवारों के आवासीय भवन खतरे की जद में आ गए थे। आपदा प्रबंधन की टीम व प्रशासन के अधिकारी सूचना के बाद मौके पर पहुंचे और हालात की जानकारी जिलाधिकारी को दी। जिसके बाद जिलाधिकारी ने प्रभावित परिवारों को प्राइमरी स्कूल और पंचायत घर में शिफ्ट करने के निर्देश दिए थे। जिलाधिकारी के निर्देश के बाद शुक्रवार को सभी परिवारों को वहां से शिफ्ट कर दिया गया है। ग्रामीणों ने प्रशासन से मांग की है कि भूस्खलन के बाद अब उनके घर रहने लायक नहीं रह गए हैं इसलिए शीघ्र उनका पुनर्वास किए जाने की व्यवस्था की जाए। इधर खनन अधिकारी लेखराज ने बताया कि शुक्रवार को अपरिहार्य कारणों से वह प्रभावित गांव का दौरा नहीं कर पाए। लेकिन शनिवार को गांव में जाकर वहां की स्थिति का जायजा लिया जाएगा। जिसकी रिपोर्ट उच्च अधिकारियों को सौंपी जाएगी। ग्रामीणों ने बताया कि शुक्रवार को विकास खंड के कर्मचारी गांव के निरीक्षण के लिए यहां पहुंचे थे।

Posted By: Jagran