मनीष साह, रानीखेत

जनपद में आगनबाड़ी केंद्रों के अच्छे दिन आने वाले हैं। नौनिहालों को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो इसके लिए जिले भर में 64 नए आगनबाड़ी केंद्र बनाए जाएंगे। नए केंद्र बनने से जहां विभाग के राजस्व की बचत होगी वहीं नन्हें मुन्ने बच्चों को बेहतर शिक्षा भी दी जा सकेगी।

जनपद के सभी 11 ब्लॉकों में नए आगनबाड़ी केंद्रों का निर्माण के लिए विभाग ने कमर कस ली है। इसके लिए बकायदा संबंधित विभाग ने निदेशालय को प्रस्ताव तैयार कर भेज दिया है। सात लाख स्पये की लागत से बनने वाले नए केंद्रों में एक कमरा, रसोई व शौचालय आदि की सुविधा होगी। साथ ही छोटे-छोटे बच्चों को पढ़ाने के लिए दीवारों को पेंटिंग से सजाने के अलावा खेल मैदान निर्माण की भी योजना है। नए केंद्र में पानी व बिजली की भी बेहतर सुविधा होगी। विभागीय सूत्रों के अनुसार सभी ब्लॉकों में आगनवाड़ी केंद्र निर्माण के लिए प्रस्ताव निदेशालय को भेजा गया है। उम्मीद है कि जल्द ही स्वीकृति भी मिल जाएगी।

====================

पाच केंद्र बनेंगे मॉडर्न

नए केंद्र निर्माण के साथ ही विभाग ने मॉडर्न आगनवाड़ी केंद्र तैयार करने का खाका भी तैयार कर लिया है। इसके तहत जनपद के पाच ब्लॉकों में मॉडर्न केंद्र बनाए जाएंगे। जिसमें फर्नीचर, खेल सामग्री सहित अन्य व्यवस्थाएं होंगी। इसमें करीब डेढ़ से दो लाख रुपए का खर्चा आएगा। हवलबाग ब्लॉक में दो, लमगडा़ में दो तथा भैसियाछाना ब्लॉक में एक मॉडर्न आंगनबाड़ी केंद्र प्रस्तावित है।

====================

किराए की भी होगी बचत

जनपद में कई आगनबाड़ी केंद्र किराए के भवन पर संचालित हो रहे हैं। तो कई सरकारी विद्यालयों के भवन पर चल रहे हैं। अब नए आगनबाड़ी केंद्रों का निर्माण हो जाने के बाद केंद्र अपने भवनों पर बच्चों को शिक्षा देगा। अपने भवन तैयार हो जाने के बाद विभाग का किराए में चलने वाले आगनबाड़ी केंद्रों का किराया भी बचेगा।

====================

'जिले में सुविधा युक्त 64 नए आगनबाड़ी केंद्र बनाए जाने हैं। पाच केंद्रों को मॉडर्न केंद्र के रूप में विकसित किया जाएगा। प्रस्ताव निदेशालय को भेजा गया है। उम्मीद है जल्द स्वीकृति भी मिल जाएगी।

- मनविंदर कौर, जिला कार्यक्त्रम अधिकारी,बाल विकास'

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस