संवाद सहयोगी, अल्मोड़ा: उत्तराखंड परिवहन निगम के अल्मोड़ा डिपो में व्यवस्थाएं सुधरने का नाम नहीं ले रही। शनिवार को अल्मोड़ा-टनकपुर बस सेवा ठप रही। इसके कारण इस बस सेवा से सफर करने वाले यात्रियों को फजीहत का सामना करना पड़ा। वह काफी इंतजार के बाद अन्य साधनों से अपने गंतव्य को रवाना हुए ।

वर्षो पुरानी अल्मोड़ा-टनकपुर बस सेवा के ठप रहने से इस सेवा से सफर करने वाले लोगों को सुबह ठंड के मौसम में काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। उत्तराखंड परिवहन निगम के अल्मोड़ा डिपो से सुबह छह से आठ बजे के मध्य बारी-बारी से मैदानी व पर्वतीय रूटों पर संचालित होने वाली छह बस सेवाओं में से अल्मोड़ा-टनकपुर बस सेवा शनिवार को ठप रही। डिपो से सुबह टनकपुर, धरमघर, दिल्ली, देहरादून, अटपेसिया व हरिद्वार के लिए बस सेवाओं का संचालन वर्षो से किया जा रहा है। जिसमें से पांच सेवाओं अल्मोड़ा-अटपेसिया, अल्मोड़ा-धरमघर, अल्मोड़ा-देहरादून, अल्मोड़ा-दिल्ली व अल्मोड़ा-हरिद्वार बसों का संचालन तो हुआ, मगर अल्मोड़ा-टनकपुर बस सेवा चालकों की कमी से ऐन मौके पर स्थगित हो गई। इससे यात्रियों को फजीहत का सामना करना पड़ा। वह काफी इंतजार के बाद वैकल्पिक साधनों कुमाऊं मोटर आनर्स यूनियन लिमिटेड तथा कुछ टैक्सियों से अपने-अपने गंतव्य को रवाना हुए। इधर परिवहन निगम के अल्मोड़ा डिपो के वरिष्ठ स्टेशन इंचार्ज केसी जोशी ने बताया कि डिपो में चालकों की कमी से निगम मुख्यालय देहरादून को अवगत कराया गया है। उन्होंने बताया कि जल्द ही समस्या के समाधान की आशा है।

---------

चालकों की कमी से पड़ रहा असर

अल्मोड़ा के रोडवेज डिपो में 15 चालकों की कमी बनी है। डिपो से मैदानी व पर्वतीय क्षेत्रों के विभिन्न रूटों पर 23 सेवाओं का संचालन किया जाता है, इसके लिए करीब 98 चालकों की आवश्यकता है। मगर डिपो में 15 चालकों की कमी बनी है। चालकों की कमी व इसमें भी आवश्यक कार्यवश चालकों के अवकाश में जाने से सेवाओं के निर्बाध संचालन में असर पड़ रहा है। इससे जहां एक ओर यात्रियों की फजीहत हो रही है, वहीं निगम की आय पर भी असर पड़ रहा है।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021